पैदा तो कर लिया, पर पाल नहीं पा रहे, लिखकर बेटी ने की आत्महत्या

0

 

इंदौर की महू पुलिस ने किया माता-पिता को गिरफ्तार

इंदौर। महू में 17 वर्षीय एक नाबालिग ने आत्महत्या कर ली थी। सुसाइड नोट में उसने अपनी मौत का जिम्मेदार अपने माता-पिता को बताया था। जिसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। मामला महू के कोदरिया का है , जहां 23 मई को सुहानी गिरी ने फांसी लगा ली थी। नाबालिग ने सुसाइड नोट में लिखा था कि ‘सुसाइड करने का कारण मेरे माता-पिता हैं ,जिन्होंने मुझे पैदा तो कर लिया लेकिन मुझे पाल नहीं पा रहे। रोज सुबह उठते-बैठते मुझे प्रताड़ित करते हैं। इतना ही नहीं गाली के सिवाय मुझसे कभी बात ही नहीं की। मेरे माता-पिता से परेशान होकर मैं यह कदम उठा रही हूं।’ घटना के बाद पुलिस ने नाबालिग के कमरे की तलाशी ली तो वहां से एक सुसाइड नोट मिला था। इसके आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी। पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर माता-पिता को आरोपी बना कर गिरफ्तार किया है। दोनों पर प्रताड़ित करने की धाराओं में केस दर्ज किया है। मंगलवार को पिता लोकेंद्र गिरी को जेल भेज दिया। एक दिन पहले मां रचना गिरी को गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है।

‘मैं आपकी उम्मीदों पर खरी नहीं उतर पाई’

बुरहानपुर की बेटी ने इंदौर में की खुदकुशी

इंदौर में एमआर 10 पर किराए के मकान में रहने वाली बीटेक सेकंड ईयर की छात्रा वैष्णवी चौहान द्वारा खुदकुशी करने का मामला सामने आया है। मौके से सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें वैष्णवी ने लिखा है कि अब विदा लेने का समय आ गया है। मैं उम्मीदों पर खरी नहीं उतर सकी। जो मुझे बनना था वो नहीं बन पाई। इसके बाद उसने माता-पिता, भाई और मौसी से माफी मांगी है।
जानकारी के मुताबिक वैष्णवी बुरहानपुर जिले की रहने वाली है और इंदौर में एलएनसीटी कॉलेज से बीटेक कर रही थी। सोमवार को चचेरे भाई ने उसे फोन किया, जब उसने फोन नहीं उठाया तो वह उसके घर पर पहुंचा। दरवाजा खोलने पर वैष्णवी फंदे से लटकी हुई मिली। इसके बाद भाई ने पुलिस को घटना की सूचना दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed