April 24, 2024

– पूजन-पाठ, दान कर कमा लें पुण्य, सालों बाद दुर्लभ संयोग

दैनिक अवंतिका उज्जैन।  

बस चार दिन और शेष अधिकमास खत्म हो जाएगा। इन पांच दिनों में कई व्रत-पर्व आएंगे जो पूजा-पाठ, दान के लिए महत्वपूर्ण है। लोग इसका लाभ उठा लें क्योंकि 19 साल के बाद तो श्रावण के अधिकमास का दुर्लभ संयोग बना है। 

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. अमर डब्बावाला ने कहा कि इन चार दिनों में लोग पूजन-दान व खरीदी सब कुछ कर सकते हैं। साथ ही जो लोग पूरे अधिक मास में भगवान विष्णु की पूजा, व्रत या दान आदि नहीं कर पाएं है तो वे भी इन आखिरी दिनों में भगवान की आराधना से पूरे महीने का पुण्य लाभ कमा सकते हैं।

जाने आज से चार दिन कौन से व्रत-त्योहार

– 13 अगस्त को श्रावण के अधिकमास की प्रदोष रहेगी। रविवार होने यह रवि प्रदोष कहलाएगी। 

– 14 अगस्त को श्रावण सोमवार रहेगा। इस दिन उज्जैन में महाकाल की सवारी भी निकलेगी।

– 15 अगस्त को मंगलवार रहेगा इस दिन मंगला गौरी व्रत किया जाएगा। 

– 16 अगस्त को अधिकमास की अमावस्या रहेगी। इस दिन हजारों लोग उज्जैन में पूजन व शिप्रा स्नान के लिए उमड़ेंगे।

सात सागर, नौ नारायण और 

84 महादेव पूजा के लिए कतार

उज्जैन में अधिकमास का मेला लगा हुआ है। देशभर से हजारों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन-पूजन के लिए उमड़ रहे हैं। खासकर यहां प्राचीन सात सागर, नो नारायण और 84 महादेवों दर्शन के लिए लोग आ रहे हैं। इन मंदिरों पर लंबी कतार लग रही है। चार दिन और मेला है। 

–