सितंबर के दूसरे हफ्ते से बजेगी स्कूल की घंटी: प्रायमरी और माध्यमिक विद्यालय खोलने की शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

ब्रह्मास्त्र इंदौर। प्रदेश में अब जल्द ही प्राइमरी और मिडिल स्कूल की घंटी बजने वाली है। सितंबर के दूसरे हफ्ते से कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक की कक्षाएं खुल सकती हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि सितंबर से स्कूल खोले जा सकते है।

सितंबर के दूसरे हफ्ते से खुल सकते हैं स्कूल

कक्षा 9 से 12वीं के स्कूल खुलने के बाद अब पहली से आठवीं तक के स्कूल खोलने को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने लगभग तैयारियां पूरी कर ली हैं। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि मध्य प्रदेश में लगातार कोरोना के केसेस कम हो रहे हैं। इसी तरह से कोरोना के कम होते आंकड़े अगस्त के आखिर तक आते रहे तो सितंबर के दूसरे हफ्ते से कक्षा पहली से आठवीं तक की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। कक्षा पहली से पांचवी तक के छात्र छात्राओं के लिए स्कूल पहुंचने की व्यवस्थाएं अलग रहेगी। कक्षा छठवीं से आठवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल में पहुंचने की व्यवस्था पूरी तरह से अलग रहेगी।

50 फीसदी क्षमता के साथ क्लास

कक्षा पहली से लेकर पांचवी तक के छात्र-छात्राओं की क्लासेस सप्ताह में एक से दो दिन लगाने की तैयारी की जा रही है। 50 फीसदी क्षमता के साथ क्लासेस में छात्र-छात्राएं पहुंचेंगे। अगर किसी कक्षा में 40 स्टूडेंट है तो 1 दिन 20 और दूसरे दिन 20 बच्चों को स्कूल बुलाया जाएगा। स्कूल में पहुंचने के लिए माता-पिता की सहमति अनिवार्य की जाएगी। माता-पिता की सहमति के बिना स्कूलों में छात्र-छात्राओं को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

डेढ़ साल से बंद हैं स्कूल

प्रदेश भर के प्राइमरी और मिडिल स्कूलमध्य प्रदेश में बीते डेढ़ साल से प्राइमरी और मिडिल स्कूल बंद है। बीते साल मार्च में कोरोना संक्रमण और लॉक डाउन के बाद से प्राइमरी और मिडिल स्कूल बंद है। फिलहाल ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए छात्र छात्राओं की पढ़ाई कराई जा रही है। स्कूल शिक्षा मित्र इंदर सिंह परमार का कहना है कि स्कूलों के खुलने के बाद भी ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन लगातार जारी रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *