इस बार दो दिन होलिका दहन

देशभर में धर्माचार्यों के मतांतर के कारण कहीं आज 6 मार्च को होलिका दहन व 7 को धुलेंडी, तो कहीं 7 मार्च को होलिका दहन 8 को खेलेंगे रंग, सरकारी छुट्टी 8 मार्च की

इंदौर/ उज्जैन। इस बार फाल्गुन माह में दो बार पूर्णिमा तिथि होने से दो दिन तक होलिका का दहन होगा। इंदौर में राजवाड़ा की सरकारी होली, खजराना गणेश मंदिर व रणजीत हनुमान परिसर की होलिका का दहन तथा उज्जैन में महाकाल प्रांगण सहित प्रमुख स्थानों पर पंचांग के अनुसार 6 मार्च को होगा। देश प्रदेश में यही माहौल है। कहीं 6 मार्च को होलिका दहन होगा तो कहीं 7 मार्च को। इसी तरह कहीं 7 मार्च को धुलेंडी होगी तो कहीं 8 मार्च को।
कई शहरों में कॉलोनियों-मोहल्लों में 7 मार्च को होलिका दहन करेंगे। हालांकि धुलेंडी 8 मार्च को ही मनाई जाएगी। दरअसल इसी दिन सरकारी छुट्‌टी भी घोषित की गई है।चूंकि ज्यादातर पंडित, ज्योतिषाचार्य 6 मार्च की होलिका दहन के लिए सर्वसम्मत है इसलिए मांग की गई है कि सरकारी छुट्‌टी 7 मार्च को घोषित की जाए।

ज्योतिषियों के दो मत

भद्रा में ही करें, कुछ बोले इसके बाद भी कर सकते हैं होलिका दहन। ज्योतिषियों के मुताबिक इस बार पूर्णिमा तिथि दो दिन की है। ज्योतिषियों के अनुसार 6 मार्च सोमवार को पूर्णिमा तिथि का शाम 4.17 बजे शुरू होगी जो 7 मार्च को शाम 6.09 बजे तक रहेगी। भद्रा 6 मार्च को ही शाम 4.17 बजे से 7 मार्च की सुबह 5.14 बजे तक रहेगी। आचार्यों के अनुसार भद्रा रहित प्रदोष काल में होलिका दहन किया जाता है।

You may have missed