April 20, 2024

मतदाताओं को लुभाने के लिए तंग बस्तियों में जमकर बंटी शराब, कहीं आटा- दाल तो कहीं साड़ी वितरण की भी खबर

इंदौर। इंदौर में मतदान के ठीक दो दिन पहले नौ करोड़ रुपये की शराब बिक गई। मतदाताओं को रिझाने के लिए निचली बस्तियों में तो मंगलवार रात जमकर शराब बंटी। आबकारी और पुलिस ने सख्ती दिखाई लेकिन ज्यादा सफलता नहीं मिली। आजाद नगर में एक कार चालक शराब छोड़ कर भाग गया।
इंदौर नगर निगम चुनाव में कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों ने मतदाताओं को रिझाने का कोई मौका नहीं छोड़ा। प्रचार के दौरान कार्यकर्ताओं के लिए भोजन-भंडारे का आयोजन रखा और मतदाताओं को शराब बांटी। सोमवार को शराब दुकान सील होने का आदेश आया तो प्रत्याशियों ने सैकड़ों पेटी शराब खरीद ली। सहायक आयुक्त (आबकारी) राजनारायण सोनी के मुताबिक अनुमान के मुताबिक दो दिन में ही नौ करोड़ रुपये से ज्यादा की शराब बिक चुकी है। यह आंकड़ा आम दिनों से ज्यादा है। प्रचार में शामिल पदाधिकारियों के मुताबिक निचली बस्तियों में यूं तो आटा-दाल और महिलाओं को साड़ियां भी बांटी गई लेकिन शराब भी कम नहीं बंटी। जिस तरह बूथ एजेंट बनाए ठीक उसी तरह तंग बस्तियों में शराब बांटने की जिम्मेदारी भी तय की गई। मंगलवार शाम से ही बस्तियों में शराब की पेटियां पहुंच चुकी थी।
कार्यकर्ताओं को मिली पर्ची से शराब – मतदाताओं को बस्तियों में शराब पहुंचाई गई, जबकि कार्यकर्ताओं के लिए शराब दुकान से ही बोतल मुहैया करवाई गई। इसके लिए प्रत्याशियों ने बाकायदा पर्ची लिखी। रोजाना हजारों रुपये की शराब पर्चियों पर बिकी। कुछ कार्यकर्ताओं को होटल और ढाबों पर व्यवस्था की गई।
शराब की पेटियां गाड़ी में छोड़कर भागा चालक – शराब बंटने की खबर के बाद पुलिस सख्त भी हुई। मूसाखेड़ी क्षेत्र में जायलो कार क्रमांक एमपी 09बीसी 0741 का चालक शराब से भरी गाड़ी छोड़ कर भाग गया। टीआइ इंद्रेश त्रिपाठी के मुताबिक पुलिस ने मूसाखेड़ी, शांतिनगर, इंदिरानगर, भील कालोनी में भी शराब बांटने की खबर पर छापा मारा लेकिन आरोपित भाग गए।
आबकारी विभाग ने 15 दल बनाए – सहायक आबकारी आयुक्त राजनारायण सोनी ने बताया कि आबकारी विभाग की टीम अलर्ट है। वार्ड स्तर पर दल बनाए हैं। एडीओ और एसआइ सघन चेकिंग कर रहे हैं। सभी वार्डों में सतत भ्रमण भी हो रहा है।

शराब बांटने की आशंका में छापामार अभियान

इंदौर। नगर निगम और जिले की आठ नगर परिषदों में 6 जुलाई को मतदान को देखते हुए उम्मीदवारों द्वारा कई जगह मतदाताओं को प्रलोभन के रूप में शराब बांटे जाने की आशंका है। इसे देखते हुए आबकारी विभाग के दल दो दिन से छापामार अभियान चला रहे हैं। आबकारी विभाग के दलों ने इंदौर के काछी मोहल्ला और महू में अवैध तरीके से रखी हुई शराब जब्त की और आरोपितों के खिलाफ प्रकरण बनाया। शुष्क दिवस होने के बावजूद शराब प्रदाय की जा रही थी। आबकारी विभाग के कंट्रोल रूम प्रभारी एवं सहायक जिला आबकारी अधिकारी राजीव द्विवेदी ने बताया कि विभाग के अलग-अलग दलों ने मूसाखेड़ी, पालदा, पलासिया, काछी मोहल्ला सहित अन्य इलाकों में मंगलवार देर रात तक छापामारी चलती रही।