April 15, 2024

इंदौर। कल्पना कीजिए कि आप स्किन एलर्जी की शिकायत करें और पांच साल की बच्ची कहे कि एलेग्रा पी ले लीजिए… यह सुन आपकाे हैरानी होगी न, लेकिन इंदौर की एक बच्ची ने यह हैरतअंगेज कारनामा किया है। साढ़े पांच साल की वान्या मिश्रा को वंडर किड कहना अतिश्योक्ति नहीं क्योंकि, उसने 46 सेकंड में 26 दवाओं के नाम बताकर विश्व रिकार्ड बनाया है। उनका नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज कर लिया गया है। वान्या की एबीसीडी ही मेडिसिनल है। ए से लेकर जेड तक के 26 लेटर में वह ए फॉर एपल या बी फॉर बॉल नहीं कहती, बल्कि इन अक्षरों के साथ दवाओं के नाम बोलती है।

डॉक्टर मां ने सिखाई मेडिसिनल एबीसीडी

दरअसल, वान्या की मां पूजा मिश्रा डॉक्टर हैं। जब बेटी स्कूल से एबीसीडी सीख कर लौटी तो मां ने कहा तुम अपनी एबीसीडी सुनाओ, मैं अपनी सुनाती हूं। मां ने ए से जेड तक दवाओं के नाम लिए। वान्या ने मां से ही यह मेडिसिनल एबीसीडी सीखी और उसकी इतनी अच्छी प्रैक्टिस की, कि उसके नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज कर लिया गया।
छोटे भाई का बदन तपे तो फोन पर पूछ लेती है पैरासिटामॉल पिला दूं।
मां डॉ. पूजा मिश्रा और पिता सौरभ मिश्रा ने बताया कि कुछ ऐसी परेशानियां या बीमारियां जो आमतौर पर लोगों को होती रहती हैं, उनकी दवाएं तो वान्या को जुबानी याद हैं। जैसे कभी कोई उल्टी की शिकायत करता है तो वह कह देती है कि — ले लो। कभी जब मैं जॉब पर होती हूं तो वान्या और उसका छोटा भाई घर पर होते हैं। वान्या का नाम वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज कर लिया गया है।