इंदौर एयरपोर्ट पर 200 बॉक्स में 9600 रेमडेसिवीर इंजेक्शन पहुंचे : रेड क्रॉस में 1568 रु जमा कर इंजेक्शन निजी अस्पतालों को भी दिए जा सकेंगे, कलेक्टरों को आदेश जारी : ग्रेसिम ने कि 30 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेशन, बिरला में 50 बेड की व्यवस्था

तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने उपचार के लिए भी संसाधनों के लिए अपनी रफ्तार बढ़ा दी है। कल मुख्यमंत्री द्वारा बैठक में हेलीकॉप्टर से कोरोना के इंजेक्शन रेमदेसीविर को हेलीकॉप्टर से उपलब्ध कराने की बात कही थी इसी के चलते आज इंदौर एयरपोर्ट पर 200 बॉक्स में कुल 9600 रेमडेसिवीर इंजेक्शन पहुंचे है।

जिनमें से चौपर के माध्यम से 42 बॉक्स भोपाल, 7 बॉक्स रतलाम और 4 बॉक्स को खंडवा पहुंचाये जाएंगे। इसी तरह स्टेट प्लेन के द्वारा 19 बॉक्स ग्वालियर, 18 बॉक्स रीवा, 39 बॉक्स जबलपुर और 14 बॉक्स सागर पहुंचाये जाएंगे‌। 57 रेमडेसिवीर
इंजेक्शन के बॉक्स इंदौर के लिए रखे जाएंगे।

रेमडीसीवीर इंजेक्शन के बारे में एक और महत्वपूर्ण निर्णय शासन ने लिया है और कलेक्टरों को भी इसके आवंटन के अधिकार दिए हैं , रेड क्रॉस में प्रति इंजेक्शन 1568 रुपए की राशि जमा होकर ये इंजेक्शन निजी अस्पतालों को भी दिए जा सकेंगे .

ग्रेसिम उदयोग ने चरक अस्पताल के लिए दिए 30 ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेशन, बिरला में 50 बेड की व्यवस्था कोविड के लिए आरक्षित
उज्जैन में आदित्य बिड़ला समूह की नागदा स्थित इकाई ग्रेसिम इंड्रस्ट्रीज ने सांसद अनिल फिरोजिया के आग्रह पर 30 ऑक्सीजन कॉनसन्ट्रेशन मशीनों को उज्जैन के चरक अस्पताल के लिए दिया है।साथ ही उज्जैन के बिरला अस्पताल में 50 बेड की व्यवस्था कोविड के मरीजों के लिए की है।कॉनसन्ट्रेशन की 30 मशीनें उज्जैन पहुँच गई है। ये मशीने वातावरण से ऑक्सीजन का संग्रहण कर मरीजों को देगी। एक मशीन की कीमत 55 हजार रुपये है। दरसल सांसद अनिल फिरोजिया ने कोरोना से बिगड़ते हलातो के चलते ग्रेसिम उद्योग को सीएसआर फंड से इन मशीनों को देने की मांग उद्योग के यूनिट हेड के सुरेश से की थी। साथ ही उज्जैन के बिड़ला अस्पताल में कोविड के लिए बेड आरक्षित करने को भी कहा था। इस पर उद्योग ने 50 बेड भी आरक्षित कर दिए हैं।

मरीजों से जाने हाल चाल हौसला बढ़ाया
सांसद फिरोजिया ने गुरुवार को बिरला अस्पताल सहित अन्य जगह पहुचकर निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मरीजो व उनके परिजनों का हौसला बढ़ाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *