बड़नगर कांग्रेसी विधायक मोरवाल के बेटे करण पर दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज

-इंदौर महिला थाने में युवा कांग्रेस नेत्री ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का लगाया आरोप
उज्जैन। बड़नगर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक मुरली मोरवाल के बेटे करण मोरवाल पर इंदौर के महिला थाने में दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज हुआ है। बताया जा रहा है कि आरोपी उज्जैन में पूर्व युवा कांग्रेस जिला कार्यकारी अध्यक्ष था। पीड़िता भी युवा कांग्रेस से ही जुड़ी हुई है। इसी बीच युवती को शादी का झांसा देकर विधायक के बेटे करण मोरवाल ने दुष्कर्म किया। बार-बार कहने के बावजूद भी जब आरोपी ने पीड़िता से शादी नहीं की तो अंततः उसने इंदौर के महिला थाने में पहुंचकर एफ आई आर दर्ज करवाई। भादवि धारा 376 के तहत आरोपी करण मोरवाल पर प्रकरण दर्ज हुआ है। पीड़िता कांग्रेस नेत्री इंदौर में रहती है, इसीलिए प्रकरण इंदौर में यहां दर्ज हुआ है।
विधायक पुत्र पर दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज होते ही एक तरह से हंगामा मच गया है। इस मामले को राजनीतिक चश्मे से भी देखा जा रहा है। इस मामले में आरोपी करण मोरवाल से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।
————-महिला पटवारी को धमकाने का भी वीडियो हुआ था वायरल
उज्जैन जिले की बड़नगर विधानसभा से कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल के बेटे करण और कस्बे की पटवारी पूजा के बीच मोबाइल पर हुई बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ था। इसमें करण पूजा से कह रहा है कि फतेहपुर में सरकारी जमीन पर बन रहा विष्णु चौधरी का मकान बनने दें। काम न रोकें। इसके जवाब में पटवारी पूजा ने कहा कि ऐसे कैसे बनने दूं। उन्‍होंने कहा क‍ि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण रोकना मेरी ड्यूटी है। कोई अतिक्रमण करेगा तो मैं हटाऊंगी।
बातचीत के दौरान करण ने यह भी कहा कि आप मुन्‍ना नागर की नौकरी कर रही हो क्या? इस पर पटवारी नाराज हुई और कहा मैं किसी पॉलिटिकल पार्टी के लिए नहीं, प्रशासन के लिए काम करती हूं। उनका कहना था क‍ि अगर विष्णु ने अतिक्रमण नहीं हटाया तो जेल जाएगा। ये कार्रवाई तहसीलदार और एसडीएम की ओर से होगी। तहसीलदार ने ही काम रुकवाने को कहा है। जिस जमीन पर मकान बन रहा वो एसडीएम कोर्ट से सरस्वती शिशु मंदिर के लिए अलॉट हुई है। मुन्नाा नागर के पास इसके दस्तावेज हैं। तब कांग्रेस विधायक ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि बेटे करण ने पटवारी से बात की है। क्षेत्रीय लोगों से पटवारी की कई शिकायतें मिल रही थीं। उन्होंने सरकारी जमीन पर 20 मकान बनवा दिए, विष्णु पैसा नहीं दे रहा तो उसका काम रुकवा दिया। मैं नहीं चाहता कि सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हो, पर न्याय समान होना चाहिए।
—————————
करण मोरवाल ने भी युवती के खिलाफ एक दिन पहले ही की थी झूठा फंसाने की धमकी देने बाबत शिकायत
बड़नगर के कांग्रेसी विधायक मुरली मोरवाल के बेटे करण मोरवाल ने इंदौर डीआईजी तथा एसपी को इस मामले में  गत एक अप्रैल को शिकायत की है। इसमें बताया गया है कि प्रार्थी आवेदक को युवती द्वारा बलात्कार के केस में झूठा फंसाया जाने की धमकी दिए जाने के संबंध में। शिकायत पत्र में लिखा है कि आवेदक शहर बड़नगर का सभ्रांत परिवार का सदस्य है तथा उसके परिवार की बड़नगर तथा उज्जैन में पारिवारिक प्रतिष्ठा है। आवेदक जिला युवा कांग्रेस का पूर्व अध्यक्ष है तथा युवती भी यूथ कांग्रेस में है। कांग्रेस की एक मीटिंग में लगभग दो-तीन साल पहले मिलना जुलना हुआ तथा वह एक दूसरे को अच्छे से जानने लगे। प्रार्थी तथा युवती के मध्य बातचीत प्रारंभ हो गई। युवती प्रार्थी को पसंद करने लगी। युवती आवेदक पर विवाह करने हेतु दबाव बनाने लगी तथा उसे फोन पर एवं व्यक्तिगत रूप से बार-बार कहती है कि प्रार्थी उससे विवाह कर ले, लेकिन वह उस युवती से विवाह करना नहीं चाहता है। प्रार्थी के विवाह करने से मना करने पर बार-बार यह धमकी देती है कि वह प्रार्थी के विरुद्ध भादवि की धारा 376 एवं अन्य धाराओं के अंतर्गत मुकदमा पंजीबद्ध करवा देवेगी। पूर्व में भी वह अन्य व्यक्ति अभिषेक छोकर (ठाकुर ) पर उक्त प्रकार का दबाव बनाकर शादी करना चाहती थी और उसके द्वारा मना करने पर युवती ने अभिषेक एवं अन्य 2 लोगों के विरुद्ध असत्य आधारों पर पुलिस थाना राऊ जिला इंदौर में अपराध क्रमांक 201/ 2020 पंजीबद्ध करवाया है। युवती आवेदक पर अनुचित रूप से दबाव बनाकर विवाह करने को कहती है और प्रार्थी द्वारा मना करने पर उसे बलात्कार के झूठे केस में फंसाने का कहती रहती है। इस कारण प्रार्थी को यह युक्तियुक्त आशंका है कि प्रार्थी के विरुद्ध कभी भी असत्य शिकायत कर  मुकदमा पंजीबद्ध करवा सकती है। यदि उक्त युवती द्वारा किसी भी प्रकार की कोई शिकायत अथवा प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध कराने हेतु माननीय महोदय के समक्ष अथवा उपस्थित हो तो प्रार्थी को बिना सुने उसके विरुद्ध कोई कार्यवाही ना की जाए एवं प्रार्थी द्वारा प्रस्तुत आवेदन पत्र की उचित जांच की जाए। शिकायत पत्र में यह भी लिखा है कि प्रार्थी आवेदक का परिवार का काफी लंबा चौड़ा व्यापार-व्यवसाय है। प्रार्थी की संपत्ति को देखकर प्रार्थी पर आर्थिक लाभ प्राप्ति हेतु भयादोहन ब्लैकमेल कर राशि वसूलने हेतु दबाव बना रही है तथा वह प्रार्थी के विरुद्ध झूठी कार्यवाही की धमकी भी दे रही है। अतः इस मामले की उचित जांच की जाए
——————————–
 यह मामला यूथ कांग्रेस का है। मेरा बेटा भी यूथ कांग्रेस में था और यह लड़की भी। दोनों के बीच बातचीत होती रहती थी। उसके बाद मेरे बच्चे के पीछे पड़ी की शादी करो। मेरे बेटे ने इंकार कर दिया कि मैं शादी क्यों करूं। पहले 3 लड़कों को उसने 376 में फंसाया था। जिनकी जमानत 8-15 दिन में ही हो गई। उनसे भी कहा था कि मुझसे शादी करो। नहीं की तो उनके खिलाफ भी रिपोर्ट डाल दी थी। मैं कल आईजी, डी आईजी साहब को कॉपी ( शिकायत )दे कर आया था।
  – मुरली मोरवाल
 विधायक कांग्रेस
बड़नगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *