April 20, 2024

उज्जैन। आय से अधिक संपत्ति के मामले में ईओडब्ल्यू के घेरे में आये शिक्षा विभाग के लिपिक का बुधवार शाम बैंक लॉकर खोला गया। जिसमें 15 लाख 52 हजार का सोना और 1 लाख 16 हजार की चांदी से बने आभूषण रखे होना सामने आये है। लिपिक 3 प्रतिशत ब्याज से पैसा भी चलता था। जिसके दस्तावेज ईओडब्ल्यू की टीम ने जब्त किये है। श्रीकृष्ण कालोनी में लिपिक के मकान पर सुबह 6 बजे से शुरु हुई आय से अधिक संपत्ति की जांच देर शाम को पूरी हुई। लिपिक धर्मेन्द्र के गांव धुरेरी और महालक्ष्मी विहार स्थित मकान पर भी दिनभर जांच चलती रही। श्रीकृष्ण कालोनी स्थित मकान से यूको बैंक में लाकर होने का पता चला था। जहां शाम को एक टीम पहुंची। लाकर खोलने पर 16 लाख 67 हजार के सोने-चांदी के आभूषण बरामद हुए। गांव में खरसौदकलां स्थित बैंक की जानकारी सामने आई थी। जहां 20 लाख नगद और एफडी जमा थी। डीएसपी अजय कैथवास ने बताया कि गांव से ब्याज पर पैसा चलाने के दस्तावेज मिले है। जिसमें 35 लाख 9 हजार से अधिक रुपये 3 प्रतिशत से लोगों को दिया जाना सामने आया है। दस्तावेजों में पेट्रोल पम्प के साथ गिट्टी खदान में भागीदारी के दस्तावेज भी प्राप्त हुए है। गांव में मिली 83.5 बीघा जमीन की कीमत 1 करोड़ 60 लाख के लगभग आंकी गई है।