इंदौर-उज्जैन फोरलेन को सिक्सलेन में तब्दील करने की तैयारी

44 किलोमीटर की सड़क पर होंगे सात सौ करोड से अधिक खर्च
जुलाई तक होगा कंपनी का चयन

उज्जैन। आगामी सिंहस्थ के मद्देनजर इंदौर से उज्जैन के बीच का फोरलेन मार्ग सिक्स लेन में तब्दील करने की तैयारी है। बताया गया है कि इस सिक्स लेन रोड पर कोई सात सौ करोड से अधिक खर्च होगा और मध्यप्रदेश रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन जुलाई तक इस प्रोजेक्ट का काम करने के लिए कंपनी का चयन कर लेगा।

 टेंडर   प्रक्रिया पूरी हो गई है और कंपनियों के टेंडर आ गए हैं। 44 किलोमीटर लंबी इस सडक़ के चौड़ीकरण पर लगभग 750 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। सिंहस्थ के मद्देनजर राज्य शासन की मंशा है कि उक्त प्रोजेक्ट जल्द से जल्द पूरा हो जाए, ताकि आने वाले श्रद्धालु परेशान न हों। वर्तमान में इंदौर-उज्जैन रोड फोर लेन चौड़ा है, लेकिन सिंहस्थ के समय दोनों दिशाओं में वाहनों का दबाव कई गुना बढ़ जाता है। बार-बार लंबा ट्रैफिक जाम होता है, जिससे लोग परेशान होते हैं। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव खुद इस प्रोजेक्ट को लेकर समय-समय पर अफसरों से जवाब तलब करते हैं। यही वजह है कि एमपीआरडीसी ने इस प्रोजेक्ट को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखा है।
एमपीआरडीसी के महाप्रबंधक राकेश जैन ने बताया कि इंदौर-उज्जैन सिक्स लेन रोड अरबिंदो हॉस्पिटल से उज्जैन के हरिफाटक तक बनाया जाना है। 45 मीटर चौड़ाई में बनने वाले इस स्टेट हाईवे के लिए जमीन की ज्यादा जरूरत नहीं है, इसलिए तेजी से इसका काम हो सकता है। एमपीआरडीसी ठेका लेकर काम पूरा करने के लिए एजेंसी को दो साल की समयसीमा देगी।
प्रतिदिन 35 हजार वाहन आना-जाना आसानी से कर सकते हैं

महाकाल लोक बनने के बाद भी इंदौर और उज्जैन के बीच प्रतिदिन हजारों वाहनों का ट्रैफिक रहता है। सिंहस्थ 2028 के लिए राज्य सरकार की इस योजना के तहत यह सिक्स लेन रोड 60 किलोमीटर लंबा इंदौर-उज्जैन हाईवे बनाकर पूर्ण की जाएगी और 34 मीटर चौड़ाई के साथ यह सिक्स लेन रोड बनाया जाएगा जिसमें प्रतिदिन 35 हजार वाहन आना-जाना आसानी से कर सकते हैं। महाकाल लोक बनने के बाद इंदौर उज्जैन रोड पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ गया है, ऐसे में सिंहस्थ 2028 सहित अगले 25 साल के ट्रैफिक लोड को देखते हुए इस रोड की प्लानिंग की गई है। इस रोड पर लोगों की सुविधाओं को देखते हुए अन्य विशेष बातों का भी ध्यान रखा गया है जिसमें सिक्स लेन हाईवे पर दो की जगह एक ही टोल बनाया जाएगा। दो बड़े फ्लाईओवर के साथ यह रोड कंप्लीट किया जाएगा। पूरा हाईवे ट्रैफिक सिग्नल फ्री होगा। रोड पर बनने वाला टोल प्लाजा सर्वसुविधायुक्त होगा जहां पीने के पानी के साथ ही टॉयलेट और कुछ दुकानें भी रहेंगी। लोगों को भोजन की सुविधा भी दी जाएगी। इस रोड को सिक्स लेन करने का निर्णय इंदौर-उज्जैन पर होने वाले ट्रैफिक को देखकर लिया गया है।

You may have missed