गंगाजल कलश यात्रा के बाद पांच दिवसीय श्री राम मारुति महायज्ञ की हुई पूर्णाहूति

रुनिजा। मसवाडिया धार में 28 मई से 1 जून तक चल रहे प्रथम पांच दिवसीय श्री राम मारुति महायज्ञ का गंगाजल की भव्य शोभायात्रा के साथ हुआ समापन। स्थानीय बालाजी मंदिर पर समस्त ग्राम वासियो के सहयोग से पांच दिवसीय महायज्ञ का आयोजन किया गया।
उक्त यज्ञ सन्दला निवासी यज्ञाचार्य जीवन जोशी के आचार्यत्व में पांच दिन तक चला। यज्ञ की पूणार्हुति के पूर्व मसवाड़िया में स्थित क्षेत्र की प्रसिद्ध कुड़ेल नदी के उद्गम स्थान का यज्ञ के आचार्य व यजमान बंधुओ ने जय कारों के साथ विधि विधान से पूजन अर्चन कर सुख समृद्धि की कामना की और इसी के साथ एक भव्य गंगाजल यात्रा गाँव के प्रमुख मार्गो से निकली जिसमें गंगाजल के यजमान बापू सिंह तंवर सानिध्य में यज्ञ के प्रधान यजमान एवं अन्य यजमान पत्नियो के साथ गाँव की मातृ शक्ति ने गंगाजल कलश उठाकर इस यात्रा की शोभा बढ़ाई गंगाजल की शोभा यात्रा गाँव के प्रमुख मार्गो से निकली यात्रा का ग्राम वासियो सहित राज परिवार एवं पंचायत परिवार की ओर से सरपंच प्रतिनिधि कोटिल्य सिंह राठौर एवं उनकी टीम ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया ।यात्रा के यज्ञ स्थल परिसर पर पहुंचने पर आयोजन समिति की ओर से तथा नगर वासियों की औ? से जय कारों के साथ पुष्प कर यात्रा की अगवानी की और उसके पश्चात जयकारों के साथ वैदिक मंत्रों व मंगलाचरण के साथ यज्ञ की पूणार्हुति हुई जिसमें समस्त यजमान बंधुओ ने और नगर वासियों की उपस्थति में आहुति देखकर सुख समृद्धि की कामना कर यज्ञ की पूणार्हुति का लाभ लिया ।इस अवसर पर नगर भोज का आयोजन भी किया गया तथा वर्ष 2025 में होने वाले यज्ञ की बोलियां लगाई गई जिसमें 1 लाखा 1 हजार 111 रुपए की सर्वाधिक बोली बलवंत सिंह बबलू दादा ने लगाकर प्रधान यजमान बनने का सौभाग्य प्राप्त किया । वहीं अन्य यजमान चंद्र सिंह चौहान , रामचंद्र शर्मा मामा जी , ओमप्रकाश गुर्जर , जोरावर सिंह ने भी 21 ,21 हजार की बोली लगाकर जो तिल की आहुति देने का लाभ प्राप्त किया।

 

You may have missed