नाबालिग बालिका का विवाह कराने पर मौलाना गिरफ्तार

0

 

इंदौर। इंदौर पुलिस ने एक नाबालिग लड़की का विवाह कराने के मामले में फरार चल रहे मौलाना को गिरफ्तार कर लिया है। यह मौलाना कल ही इंदौर लौटे थे और उन्हें पकड़ लिया गया।

घटनाक्रम के अनुसार 14 जनवरी को धार जिले के सरदा- रपुर से इंदौर लाकर 15 वर्ष की नाबालिग बेटी का विवाह माता- पिता ने एक गोदाम में ले जाकर चंदननगर क्षेत्र के 32 वर्षीय युवक अकबर पिता मोहम्मद सलीम के साथ कर दिया। वि- वाह के बाद बालिका अपनी ससुराल में रही।
जब उसके साथ ससुराल पक्ष द्वारा मारपीट की गई तो उसने हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज की। मामले में बाल कल्याण समिति ने बालिका को बुलाकर उसके कथन लिए। विभाग की सुपरवाइजर संध्या यादव ने बाा ‘लिका के आयु संबंधी प्रमाण भी लिए।

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी रामनिवास बुधौलिया ने बताया कि बालिका की आयु विवाह के समय मात्र 15 वर्ष थी। जनवरी माह में उक्त वि- वाह के प्रमाण के रूप में फोटो भी प्राप्त किए गए। यह बालिका ससुराल में होने वाली मारपीट से दुखी होकर संस्था के पास आई थी तथा माता-पिता ने उसे ले जाने से मना कर दिया। इसके चलते बाल कल्याण समिति ने उसे बाल संरक्षण केंद्र में भेजा। बाल विवाह को लेकर कार्रवाई के लिए लाड़ो अभियान कोर ग्रुप के महेंद्र पाठक को जिम्मेदारी सौंपी। उन्होंने थाना खजराना और थाना चंदननगर क्षेत्र में जाकर विवाह स्थल तथा अकबर के माता-पिता से चर्चा की।

बाल विवाह की सूचना में सत्यता प्रमाणित होने के बाद उन्होंने थाना खजराना में जहां निकाह किया गया था वहां पर बाल विवाह अधिनियम 2006 के तहत एफआईआर दर्ज कराई है। अधिनियम के तहत बालिग होकर नाबालिग बालिका के साथ निकाह करने वाले अकबर पिता मोहम्मद सलीम, उसकी मां मुन्नी, लड़की के पिता जावेद पिता अब्दुल हमीद उसकी माता समीना पति जावेद तथा बुआ परवीन पति शफीक खान के साथ ही निकाह कराने वाले काजी के विरुद्ध भी कार्रवाई की गई है। इस प्रकरण में पहले ही विवाह करने वाला युवक उसकी मां और लड़की की बुआ गिरफ्तार हो चुके हैं। नाब् लिग होने के बावजूद विवाह की गई लड़की गर्भवती थी जिसका अबार्शन न्यायालय की अनुमति के बाद हुआ है। इस प्रकरण में अभी किसी भी आरोपी को जमानत नहीं मिली है। इस प्रकरण में शादी कराने वाला मौलाना महबूब रजा फरार चल रहे थे। यह मौलाना इंदौर से अपनी ससुराल उत्तर प्रदेश चलें गए थे कल जैसे ही कुछ काम से वे वापस इंदौर आए वैसे ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *