April 24, 2024

दैनिक अवंतिका  उज्जैन। शराब के नशे में जीजा-साले के बीच विवाद हो गया था। साले ने  खेत से लौटते समय जीजा की आंख में मिर्ची  दी और साथी के साथ मिलकर हमला किया। जीजा की मौत होने के बाद लाश और बाइक को सड़क किनारे फेंक भाग निकले। 48 घंटे में पुलिस ने मामले का खुलासा किया है। माकडोन थाना क्षेत्र के ग्राम रामड़ी में 28 नवबंर की रात हिन्दूसिंह पिता राधेश्याम गुर्जर 35 वर्ष की लाश रोड़ किनारे मिला था। कुछ दूरी पर उसकी बाइक पड़ी थी। खबर मिलते ही टीआई भीमसिंह देवड़ा टीम के साथ पहुंच गये थे। हिन्दूसिंह को बुरी तरह मारा गया था, उसके हाथ-पैर टूट चुके थे। चोंट के कई निशान थे। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू की। दूसरे दिन पता चला कि हत्या में मृतक के मुंहबोले साले विनोद पिता हुकुमसिंह गुर्जर का हाथ है। जो ग्राम परी में छुपा हुआ है। प्रधान आरक्षक मांगीलाल मीणा और आरक्षक राममूर्ति तलाश में पहुंचे। जहां से विनोद को हिरासत में लिया गया और थाने लाया गया। पूछताछ में उसने अपने साथी अनिल पिता हिन्दूसिंह गुर्जर के साथ मिलकर हत्या की है। अनिल की तलाश की गई, लेकिन वह फरार होना सामने आया। शुक्रवार को मामले का खुलासा करते एसडीओपी भविष्य भास्कर ने बताया कि गिरफ्त में आया आरोपित विनोद 18 साल 11 माह का है। उसे ग्राम परी में देवनारायण मंदिर के पास से पकड़ा गया है। उसकी निशानदेही पर खून लगे कपड़े, हत्या में प्रयुक्त लट्ठ बरामद किया गया है। ऐसे दिया था हत्या को अंजाम गिरफ्त में आये विनोद ने बताया कि 15 दिन पहले शराब पीने के दौरान जीजा हिन्दूसिंह से विवाद हुआ था। जीजा ने मारपीट की थी, जिसके बाद बदला लेने की ठान ली थी। कुछ दिनों से अनिल के साथ जीजा के आने-जाने वाले रास्ते की रैकी। घटना वाले दिन जीजा खेत से बाइक पर सवार होकर घर लौट रहा था। उस दौरान ग्रिड के पास बलडे में छुपकर बैठे थे। जीजा के पास आते ही उसकी आंखों में मिर्ची ­ोंक दी। जीजा का संतुलन बिगड़ गया और गिर पड़ा। जिसके बाद दोनों ने मिलकर लाठियों से हमला किया। मौत होने पर बाइक और जीजा को सड़क किनारे फेंक दिया था। साक्ष्य छुपाने की बढ़ाई गई धारा टीआई भीमसिंह देवड़ा ने हत्या की धारा 302 के साथ साक्ष्य छुपाने की धारा 201 बढ़ाई गई है। आरोपितों ने हत्या के बाद सड़क किनारे फेंका था।  गिरफ्त में आए साले को शुक्रवार दोपहर न्यायालय में पेश किया गया था। जहां से एक दिन की पूछताछ के लिये रिमांड पर लिया गया है। ताकि उसके साथी की जानकारी जुटाकर गिरफ्तार किया जा सके। आरोपित को मृतक की पत्नी राखी बांधती है।