इंदौर में मंदिर की सीढ़ियों पर लगाए उदयनिधि के फोटो, ताकि पैरों तले कुचला जाए

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के मंत्री बेटे ने सनातन धर्म पर की थी विवादित टिप्पणी

इंदौर। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे और मंत्री उदयनिधि स्टालिन के सनातन धर्म को लेकर दिए विवादित बयान के बाद इंदौर में विरोध शुरू हो गया है। दिल्ली-यूपी, मुंबई में उदयनिधि के विरोध के बाद अब इंदौर में हिंदू जागरण मंच ने अनोखे ढंग से विरोध किया है। मंच के पदाधिकारियों ने एयरपोर्ट रोड स्थित बिजासन माता मंदिर की सीढ़ियों पर उदयनिधि की फोटो लगा दी। श्रद्धालु इसी पर पैर रखकर चढ़ते-उतरते हैं।
पिछले दिनों सनातन धर्म को लेकर उदयनिधि स्टालिन ने विवादित टिप्पणी की थी, जिसके चलते उनका पूरे देश में विरोध शुरू हो गया। इसी कड़ी में इंदौर में हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने उदयनिधि स्टालिन के खिलाफ अनूठे तरीके से विरोध प्रदर्शन किया है।
हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट रोड स्थित बिजासन माता मंदिर की सीढ़ी पर उदयनिधि स्टालिन की तस्वीर लगा दी. अब यहां जो भी भक्त भगवान के दर्शन करने के लिए मंदिर में आ रहे हैं, पहले उदयनिधि की फोटो पर पैर रखकर पैर साफ कर रहे हैं, उसके बाद मंदिर में प्रवेश कर रहे हैं।
हिंदू जागरण मंच इंदौर के जिला संयोजक कन्नू मिश्रा ने कहा कि उदयनिधि ने हमारी भावनाओं को चोट पहुंचाई है, इसलिए हमने मंदिर की सीढ़ियों पर उनका फोटो लगाया है। उदयनिधि स्टालिन ने जिस तरह से सनातन को लेकर टिप्पणी की है, उसके चलते उनका अलग तरह से विरोध किया जा रहा है। आगे भी इसी तरह अलग-अलग जगह पर विरोध होगा।
दरअसल, उदयनिधि ने अपने बयान में सनातन धर्म की तुलना डेंगू और मलेरिया से की थी। उदयनिधि ने सनातन उन्मूलन सम्मेलन में दिए बयान में कहा था कि ‘सनातन धर्म सामाजिक न्याय और समानता के खिलाफ है। कुछ चीजों का विरोध नहीं किया जा सकता, उन्हें खत्म ही कर देना चाहिए। हम डेंगू, मच्छर, मलेरिया या कोरोना का विरोध नहीं कर सकते। हमें इसे मिटाना है। इसी तरह हमें सनातन को भी मिटाना है।’

You may have missed