April 19, 2024

ठगी का शिकार हुए कई लोगों ने कर ली आत्महत्या

इंदौर। फटाफट लोन का झांसा देकर चीनी कंपनियां लोगों के करोड़ों रुपये ठग रही थी। क्राइम ब्रांच ने फर्जी एप के जरिये जाल में फंसाने वाली करीब 200 एप को प्ले स्टोर से हटवाया है। एप से लोन ले चुके कई लोग आत्महत्या कर चुके हैं। कार्रवाई के बाद शिकायतों में भी भारी कमी आई है। इस तरह के केस अकेले इंदौर ही नहीं बल्कि उज्जैन सहित मध्य प्रदेश और देश के भी कई हिस्सों में हुए हैं।
एमजी रोड निवासी निजी बैंक की कर्मचारी फटाफट लोन का मैसेज देख चौंक गई। मोबाइल पर आई लिंक पर क्लिक करते ही एक एप इंस्टाल हुआ।ब्याज दरें ज्यादा होने पर युवती ने लोन की राशि तुरंत चुका दी, लेकिन एक सप्ताह बाद ही रिकवरी एजेंट का काल आया और कहा कि ब्याज तो चुकाना होगा। युवती ने बहस की तो जालसाज ने दनादन युवती के निजी फोटो भेजना शुरू कर दिए। युवती कुछ समझती, इसके पहले जालसाज ने वाट्सएप काल कर कहा, फोन का डाटा उसके पास आ गया है। जितना ब्याज मांगा वो भर दो वरना ये फोटो तुम्हारे माता-पिता और रिश्तेदारों के पास पहुंच जाएंगे।

इन पर न करें विश्वास

स्टार लोन एप, मेट्रो फाइनेंस, स्टेशफिन, कैश होस्ट, गोल्ड कैश, मोबाइल कैश एप, ईजी क्रेडिट, मनी ट्री, लोन फ्यूचर, रूपी स्मार्ट, फ्लेश रुपी, जो-जो कैश, कैश पार्क, लाइव कैश, सन कैश, इनकम एप, यूनिक कैश, ब्राइट कैश, मैजिक मनी, सनी एप, रोयल कैश, शार्प काम, मार्वल एप, मोबी क्विक, वाइस एप, फार्च्यून लोन, कैश फिश, रुपी बज, गोल्डमैन प्लस, हैंडी लोन, रीच कैश, आसान लोन, रुपी फंटा एप, मनी पाकेट, एक्सप्रेस लोन, हू कैश, एम्पल कैश, कैश कोला एप, फास्ट रुपी एप, मनी म्यूचल एप, पब कैश एप, स्माल कैश, मनी लाड्डर, बास्केट लोन, कैश गुरु, रोकेट लोन, फनी हैप्पेन लोन, कैश एडवांस एप, रुपया कंपनी, ओरेंज एप, स्माल लोन, फ्लिप कैश, कैश मास्टर एप, एजी लोन, रुपी आनलाइन, ओबी कैश, रिलायबल रुपी कैश, कोको एप, कैशपाल, मंडे लोन, मोर कैश एप।