महाकाल मंदिर में रैकी करते पकड़ा

उज्जैन में लखनऊ और दिल्ली से आई आईबी की टीम की कार्रवाई
भोपाल का रहने वाला है पकड़ा गया संदिग्ध, फर्जी आईडी से शक गहराया
उज्जैन। प्रारंभिक पूछताछ में यह बात सामने आई है कि संदिग्ध बड़नगर में किसी कंपनी में काम करता था। वह भोपाल का रहने वाला है।
सावन शुरू होने से पहले उज्जैन के महाकाल मंदिर से एक संदिग्ध को पकड़ा गया है। दिल्ली और लखनऊ से आई इंटेलिजेंस ने लोकल पुलिस की मदद से यह कार्रवाई की है। संदिग्ध मंदिर के अंदर रैकी कर रहा था। उसने रिकॉर्डिंग और फोटोग्राफी भी की है। सूत्रों के अनुसार संदिग्ध व्यक्ति बड़नगर में किसी कंपनी में काम करता है और भोपाल का रहने वाला है। घटना के बाद मंदिर की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है। उसने जो आईडी दिखाई वो भी फर्जी थी, इसलिए उस पर शक गहरा गया है। फिलहाल जांच की जा रही है।
हाल ही में लखनऊ में आतंकियों का मॉड्यूल पकड़ा गया था। उसी समय से मध्य प्रदेश में हाई अलर्ट कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार वहीं से इनपुट मिला था। इसके बाद शनिवार को लखनऊ, दिल्ली से आए आईबी के अफसरों की टीम महाकाल मंदिर पहुंची थी। शनिवार को आईबी टीम के साथ उज्जैन सीएसपी और उनकी टीम भी मौजूद थी। पुलिस ने संदिग्ध को मंदिर के अंदर से पकड़ा लिया। आईबी के अधिकारियों ने उसका मोबाइल फोन देखा तो उसमें मंदिर की तस्वीरें और वीडियो थे। सूत्रों के मुताबिक संदिग्ध युवक के पास जो उसकी आईडी थी वह भी फर्जी पाई गई। युवक ने आईडी के जरिए अपनी पहचान छिपाई थी। फिलहाल सुरक्षा एजेंसी युवक से पूछताछ कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *