भगवान भरोसे इंदौर संभाग का एक शहर – पानी दान करो वरना…

भीषण जल संकट से जूझ रहे खंडवा में नगर निगम का निवेदन व धमकी देता फरमान

इंदौर। संभाग का खंडवा शहर इन दिनों भीषण जल संकट से जूझ रहा है। खंडवा नगर निगम आयुक्त ने लोगों से भगवान ( निमाड़ के संत दादाजी धूनीवाले) के नाम पर पानी दान करने की अपील व धमकी देता फरमान जारी किया है। उन्होंने पत्र के माध्यम से कहा कि जिनके पास निजी कुआ, बावड़ी , नलकूप आदि हैं, तो वह अपने आसपास के लोगों को फ्री में पानी दान करें अन्यथा कार्रवाई होगी।
पत्र में कहा कि गया कि खंडवा के लोग भगवान के नाम पर पहले भी कई तरह के भंडारे करते आए हैं और मुक्त हस्त से सेवा करते हैं। इसलिए पानी दान कर के एक नया संदेश प्रसारित करें। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तब नगर निगम उनके जल स्रोतों को अधिग्रहित कर सकता है।
खास बात यह है कि 200 करोड़ रुपए के नर्मदा जल योजना होने के बावजूद नगर निगम पानी की समस्या हल करने में भगवान का सहारा ले रहा है। इस पर लोग चुटकियां लेते कह रहे हैं कि जब पानी की व्यवस्था आम लोगों को खुद करनी है तो फिर नगर निगम का शहर में क्या काम ?

एक महीने से पानी की भारी समस्या

खंडवा में करीबन एक माह से पीने के पानी की विकराल समस्या है। आए दिन लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। नगर निगम के जल स्रोत सूख गए हैं, क्योंकि उनमें पानी ही नहीं बचा है। इसीलिए निगम ने आम लोगों से यह ऐलान किया है। नगर निगम ने आम लोगों से पानी की उपलब्धता कराने के लिए सहयोग भी मांगा है और धमकी भी दी गई है। यदि वह पानी दान नहीं करेंगे तो उनके जलस्रोत को अधिग्रहित कर लिया जाएगा।

200 करोड़ की योजना के बाद भी खंडवा प्यासा

खंडवा शहर में पानी सप्लाई करने के लिए करीब दो सौ करोड़ खर्च कर नर्मदा जल योजना बनाई थी। शुरुआत से ही इस योजना की पाइप लाइन बार-बार फूट रही है। इस योजना में भी भारी भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। खंडवा के लोग पानी की समस्या को भगवान के भरोसे छोड़े जाने की चुटकियां ले रहे हैं और ताने मार रहे हैं। उनका कहना है कि यदि व्यवस्था नहीं संभल रही है तो नगर निगम को भी भगवान के भरोसे छोड़ दिया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *