लव जिहादियों की शरण स्थली बना इंदौर

19 वर्षीय जैन युवती को वापी से इंदौर भगा लाया इमरान, निकाह की भी कोशिश, गिरफ्तार कर ले गई गुजरात पुलिस

इंदौर। लव जिहाद के खिलाफ कानून बन जाने के बावजूद यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले कुछ दिनों में ऐसे मामले ज्यादा हो रहे हैं, जिसमें दूसरे राज्यों से लव जिहाद करके इंदौर में शरण ली जा रही है। एक तरह से लव जिहाद की शरण स्थली बन गया है इंदौर। पूर्व में उत्तर प्रदेश, बिहार और राजस्थान से भी इसी तरह के मामले सामने आए थे। इंदौर उसके आसपास या मध्यप्रदेश में आकर लव जिहादियों ने अपने दिन गुजारे थे। ऐसे भी मामले सामने आए जिसमें इंदौर तथा उसके आसपास की लड़कियों को नाम , जाति, धर्म तथा पहचान बदलकर युवकों ने बहलाया- फुसलाया और अपने साथ दूसरे राज्यों में ले गए। हाल ही में गुजरात से 2 मामले सामने आए हैं। गुजरात में धर्म स्वतन्त्र सुधार अधिनियम लागू होने के बाद लव जिहाद के केस में पुलिस ने दूसरी गिरफ्तारी की है। वडोदरा के बाद लव जिहाद का दूसरा मामला वापी से आया है, जहां एक युवती को भगाने में आरोपी की मदद उसी की बीबी ने की थी। आरोपी को इंदौर से गिरफ्तार करने के बाद उसे वापी ले जाया गया है। पुलिस पूछताछ में कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई हैं।
पूछताछ में सामने आया कि आरोपी ने शादी की पहली रात ही अपनी पत्नी को युवती को फंसाने और उसे घर से भगाकर ले जाने के बारे में बता दिया था। आरोपी इमरान वशी अंसासी 19 वर्षीय जैन युवती को पहले अजमेर और फिर इन्दौर लेकर आया था। पुलिस का मानना है कि बीबी ने भी मदद की है। इंदौर में रहते हुए भी वह लगातार बीबी के संपर्क में रहा था।

गौरतलब है कि वापी की 19 वर्षीय जैन युवती को लव जिहादी इमरान वशी अंसासी (मूल निवासी- पश्चिम बंगाल) भगा ले गया था। पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर दोनों को इंदौर से गिरफ्तार किया था। पुलिस ने दोनों का बयान दर्ज कर लिया है। आरोपी इमरान ने पुलिस को बताया कि पत्नी को शादी की पहली रात में ही सबकुछ बता दिया था। इसके बाद आरोपी युवती को पहले अजमेर और फिर इंदौर लेकर चला गया था।
आरोपी इमरान वशी अंसारी युवती के पड़ोस में रहता था। उसे युवती के मामले में सब कुछ मालूम था। पड़ोस में रहने से आरोपी को युवती के करीब आने का मौका मिला। आरोपी इमरान लड़की को शादी का लालच देकर अपने साथ भगा ले गया था। लड़की का कहना है कि इमरान ने उसे धमकी दी थी कि उसकी बात न मानने पर वह उसके भाई को जान से मार देगा।
आरोपी और पीड़िता वापी से पहले अजमेर शरीफ गए थे। यहां मस्जिद में निकाह की कोशिश की थी, लेकिन नाकाम रहे थे। इसके बाद आरोपी पीड़िता को लेकर इंदौर चला गया था और एक परिचित की मदद से वहीं रह रहा था। जानकारी मिलने पर पुलिस की टीम इंदौर पहुंची और आरोपी व पीड़िता को वापी लेकर आई।
पुलिस ने बताया कि इंदौर से आने के बाद युवती अपने परिवार के साथ है। उसके पास से चार ताबीज भी मिले हैं, जो इमरान की पीर के पास से लाया था। गौरतलब है कि इन दिनों इंदौर लव जिहाद के आरोपियों की शरण स्थली बनता जा रहा है। राजस्थान, गुजरात से यहां आने वाले ज्यादा आरोपी पकडे जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *