April 15, 2024

उज्जैन। ताश-पत्ती से हार-जीत का दांव लगवाना जुआरी को महंगा पड़ गया। सोमवार को पुलिस और नगर निगम की टीम ने जेसीबी से उसका मकान तोड़ दिया। पांच दिन पहले पुलिस ने दबिश देकर लाखों की नगदी बरामद की थी।
संतराम सिंधी कालोनी में रहने वाले जुआरी कैलाश पिता गुलाबराय केसवानी पर 15 अपराधिक मामले दर्ज है। 16 मार्च को नीलगंगा पुलिस ने उसके मकान पर दबिश देकर 11 जुआरियों को गिरफ्तार किया था। जुआरी कैलाश की अनैतिक और अपराधिक गतिविधयां कम नहीं होने पर अभियान में उसके मकान का रिकार्ड नगर निगम के माध्यम से खंगाला गया। जिसमें खामियां होने पर सोमवार दोपहर निगम और नीलगंगा थाने की टीम उसके घर पहुंची और मकान को जेसीबी से तोड़ दिया गया। मकान तोडऩे की कार्रवाई पर कैलाश ने टीम का विरोध किया और मकान वैध होने के साथ दस्तावेज भी प्रस्तुत किये। उसके पक्ष में समाज के लोग भी आगे आ गये, लेकिन पुलिस और निगम टीम ने उसकी बात को दरकिनार कर दिया गया। नगर निगम की टीम ने 2 घंटे में पूरे मकान को जमींदोज करने की कार्रवाई पूरी की।