April 20, 2024

इंदौर। कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले आदिवासी अंचल में भी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। कांग्रेस यहां भी जबरदस्त गुटबाजी का शिकार हो गई है। इस अंचल पर भाजपा पहले ही नजरें गड़ाए बैठी हुई है और कांग्रेस में आपसी फूट अब मारपीट और थाने तक जा पहुंची है। वह भी वरिष्ठ कांग्रेसियों के बीच।
अलीराजपुर-झाबुआ-रतलाम में कांग्रेस का चेहरा रहे कांतिलाल भूरिया के विरोधी जिला कांग्रेस अध्यक्ष महेश पटेल को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। भगोरिया मेले में इन विरोधियों के बीच हुई मारपीट की घटना को लेकर पार्टी ने यह कार्रवाई की है। प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने बताया कि पटेल को पार्टी के वरिष्ठ नेता के साथ मारपीट की घटना के कारण छह साल के लिए निष्कासित किया गया।
कांतिलाल भूरिया कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हैं और केंद्रीय मंत्री रहे हैं। वे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी रहे हैं। आलीराजपुर, झाबुआ और रतलाम क्षेत्र में भूरिया की लोकप्रियता है, लेकिन वहां उनके विरोधी भी सक्रिय रहे हैं जिनमें जिला अध्यक्ष महेश पटेल प्रमुख रहे हैं। हाल ही में उपचुनाव के दौरान जब महेश पटेल को हार का सामना करना पड़ा था तो उन्होंने खुलकर भूरिया के खिलाफ बयानबाजी की थी।

कांतिलाल भूरिया व बेटे विक्रांत पर अपहरण व लूट का मामला दर्ज

अलीराजपुर। जोबट में कांग्रेस के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई है। इसके बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री और झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया व उनके बेटे प्रदेश युवक कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया पर जोबट थाने में अपहरण और लूट का मामला दर्ज हुआ है। यह प्रकरण महेश पटेल और उनके समर्थकों के आवेदन पर दर्ज हुआ है।