April 24, 2024

उज्जैन। तीन माह पहले मिली युवक की जली लाश के मामले में परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। मामले में पुलिस ने दुर्घटना मान जांच को बंद कर दिया था। सोमवार को मृतक के नाराज परिजनों और समाजजनों ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने पर पुलिस कंट्रोल रुम के बाहर धरना दे दिया। 9 दिसंबर 2021 को बांसखेड़ी में महिदपुर के ग्राम चिरम्या के रहने वाले गोपी पिता अम्बाराम की जली लाश मिली थी। घटनास्थल से पुलिस ने उसी के गांव में रहने वाली जीवन पिता बगदीराम और उसके भाई अंतरसिंह की बाईक जली पाई थी। दोनों भाई भी घटना में झुलसे पाये गये थे। परिजनों ने लाश मिलने के बाद हत्या का आरोप लगाया था और झुलसे भाईयों से जमीन विवाद के साथ कई आरोप लगाये थे। परिजनों ने बताया था कि घटना से पहले रात को दोनों भाई गोपी को लेकर अपने साथ गये थे। भैरवगढ़ पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरु की थी।