April 15, 2024

ब्रह्मास्त्र सागर। गढ़ाकोटा में रहली मेले के मंच पर शिवराज खेमे के मंत्री गोपाल भार्गव भावुक हो गए। बोले- मैं रहूं या न रहूं, ये मेला चलते रहना चाहिए। संबोधन के दौरान भार्गव का गला भर आया। वे भावुक हो गए और उन्होंने अपनी बात खत्म कर दी। भावुक भार्गव को देख केंद्रीय मंत्री सिंधिया सहारा बने। उन्होंने मंच से कहा- आपका साथ मैं और जनता मिलकर अंतिम सांस तक देने को तैयार रहेंगे। गोपालजी आपके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया खड़ा है।
भार्गव बोले- राजनीति में कोई भरोसा नहीं रहता…
पीडमंत्री गोपाल भार्गव ने कहा- आप लोग इस मेले को आगे बढ़ाते रहें। हम लोग तो ऐसे हैं कि राजनीति में कोई भरोसा नहीं रहता। जीवन का भी कोई भरोसा नहीं है। लेकिन धर्म, परंपरा के लिए जो लोग जीते हैं, वही लोग जिंदा रह पाते हैं, जो लोग अपना इतिहास भूल जाते हैं, इतिहास उन्हें भी भुला देता है।
सिंधिया ने कहा- गोपालजी आपके साथ ज्योतिरादित्य खड़ा है
केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- अभी मंच से गोपाल जी कह रहे थे कि मैं रहूं या ना रहूं, ये मेला चलना चाहिए। विधि का विधान है, लेकिन मैं रहली की जनता से विश्वास लेना चाहता हूं कि जिस व्यक्ति ने अपना संपूर्ण जीवन आप को समर्पित किया, जिस व्यक्ति के जीवन काल में हर क्षण में अगर आवाज उठी तो रहली के झंडे की आवाज उठी, सागर के झंडे की आवाज उठी, उस व्यक्ति का साथ आप और हम मिलकर अंतिम सांस तक देने के लिए तैयार रहेंगे। गोपालजी आपके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया खड़ा है।