April 15, 2024

इंदौर। बहुचर्चित अर्जुन ठाकुर हत्याकांड में वांछित हेमू ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद उसे पुलिस ने जिला कोर्ट के 10 नम्बर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आरोपी को 5 दिन की रिमांड पर पुलिस को सौंपा है। पुलिस फरारी के दौरान हेमू की मदद करने वालों का पता लगाएगी। अर्जुन ठाकुर को गोली मारने के बाद हेमू की इंदौर से भागने में किस-किस ने मदद की इसकी जानकारी भी पुलिस जुटा रही है।
पुलिस ने हेमू ठाकुर को लसूड़िया से पकड़ा था। हेमू दोबारा नेपाल भागने की फिराक में था। पुलिस हेमू से पूछताछ कर रही हे कि वह इंदौर से फरारी के दौरान कहां-कहां रहा। मोबाइल की कॉल डिटेल भी निकाली जा रही है। आरोपी हेमू के पहले के कई गंभीर अपराध दर्ज है और उसका कई गैंग के बदमाशों से सम्पर्क है।

थाने में जाते ही कम्बल में जा घुसा

पुलिस की माने तो हेमू ठाकुर कई वर्षो से अवैध शराब के धंधे में लिप्त है। सोमवार रात जैसे ही क्राइम ब्रांच ने हेमू को पुलिस को सौंपा उसे इंदौर के नामचीन गुंडे सतीश भऊ की याद दिलाई। हेमू ने कहा मुझे ये पता होता तो गोलीकांड नहीं करता। अर्जुन ठाकुर गोलीकांड में चिंटू ठाकुर, सतीश भाऊ, गोविंद गहलोत, पप्पू और प्रमोद पकड़े जा चुके हैं। आरोपियों ने 19 जुलाई 2021 को दिनदहाड़े विजय नगर की स्कीम-74 स्थित शराब ठेकेदारों के सिंडिकेट ऑफिस में गोलियां चलीं थी। इसमें अर्जुन ठाकुर घायल हो गया था।