सोमवार शाम से गायब दिव्यांग मानसिक बच्चा अभी तक नहीं मिला

0

 

मौत के धाम से दूसरे आश्रम में शिफ्ट किए बच्चे को ड्रोन की मदद से खोज रही पुलिस

आश्रम प्रबंधन भी कठघरे में, 7 घंटे बाद पुलिस को दी जानकारी, गुमराह किया

इंदौर। युगपुरुष मानसिक दिव्यांग धाम में 6 बच्चों की मौत और कई बच्चों के बीमार होने के बाद अनेक बच्चों को इस धाम से अखंड परमानंद आश्रम मैं रखा गया है, परंतु आश्रम से 16 वर्षीय बच्चा गायब हो गया। बच्चे के गायब होने के पीछे आश्रम प्रभारी और प्राचार्य की लापरवाही सामने आई है। बच्चे के जाने के सात घंटे बाद पुलिस को खबर दी गई थी। प्राचार्य ने एफआईआर में भी गलत तथ्य लिखवाकर पुलिस को गुमराह किया है।
पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज किया है। बच्चा मंदबुद्धि है। नाम-पता बताने में भी असमर्थ है। एसीपी आशीष पटेल के मुताबिक, श्री युग पुरुष धाम से छह जुलाई को 131 बच्चे परमानंद आश्रम में शिफ्ट किए गए थे। लेकिन प्राचार्य डा. अनिता शर्मा ने एफआईआर में लिखवाया कि बच्चे सात जुलाई को आए हैं।

बदनामी के डर से पुलिस को खबर नहीं दी

सोमवार शाम चार बजे बच्चा आश्रम से चला गया था। कर्चमारियों ने बदनामी के डर से पुलिस को खबर नहीं दी और खुद ही तलाशते रहे। रात 11 बजे तेजाजी नगर थाने गए और एफआईआर दर्ज करवाई। पुलिस ने घटना पर शक जाहिर करते हुए प्रबंधन से कहा कि वह बच्चों को पंचकुइया से खंडवा रोड लाने के सबूत दे। बदले में उन्होंने एक वीडियो दिया जिसमें बच्चे बस में बैठे हुए नजर आ रहे हैं।

ड्रोन कैमरे से खेतों में तलाशी, गली-मोहल्लों में मुनादी

पुलिस सोमवार रात से ही सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुट गई। ड्रेगन टार्च से तलाशी ली गई। मंगलवार को आश्रम पहुंचे अफसरों ने सुरक्षा व्यवस्था देख नाराजगी जताई। बच्चे बाथरूम खुद ही जा रहे थे। परिसर में सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था भी सही नहीं है।
परिसर में बने अस्पताल के पास से दीवार कूदकर जाने की शंका जताई गई। दोपहर को पुलिस ने न्यू दिगंबर पब्लिक स्कूल (एनडीपीएस) के फुटेज निकाले। ड्रोन कैमरा लगाकर खेतों में तलाशी करवाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *