इंदौर में मौत के धाम में पानी भी पीने योग्य नहीं : प्रधानमंत्री कार्यालय ने मांगी रिपोर्ट, 92 बच्चों को किया दूसरी जगह शिफ्ट

0

 

 

इंदौर। मौत का धाम बने शहर के पंचकुइया स्थित युगपुरुष धाम आश्रम के 81 बच्चों को बीमार होने पर उपचार के लिए चाचा नेहरू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां छह बच्चों की मौत हुई। आश्रम में रहने वाले अन्य बच्चों को शनिवार को खंडवा रोड स्थित परमानंद आश्रम में शिफ्ट किया गया। स्पीड इस पूरे मामले की रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय ने मांगी है। राष्ट्रीय बाल अधिकार एवं संरक्षण आयोग के सदस्य डॉ. दिव्या गुप्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले को संज्ञान में लिया है। इसके अलावा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने भी प्रदेश के मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। प्रदेश की मोहन यादव सरकार के साथ ही दिल्ली की अन्य केंद्रीय संस्थाएं भी एक-एक घटनाक्रम पर नजर रख रही हैं।

आश्रम में पाई गई कई अनियमितताएं

युगपुरुष धाम आश्रम को सैनिटाइज करने के साथ ही साफ सफाई और अन्य सुधार कार्य किए जा रहे हैं। युगपुरुष धाम आश्रम में बच्चों की मौत के बाद उच्च स्तरीय समिति ने जांच की थी। इसमें आश्रम में कई अनियमिताएं पाई गई। यहां से लिए गए पानी के सैंपल भी खराब आए हैं। आश्रम का पानी पीने लायक नहीं है। इसके अलावा साफ सफाई, वेंटिलेशन और अन्य कई अनियमितताएं मिली हैं। जिला प्रशासन ने निर्णय लिया है कि आश्रम में व्यवस्थाएं दुरुस्त करने तक बच्चों को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है।
शनिवार को 92 बच्चों को परमानंद आश्रम में स्थानांतरित किया गया। एंबुलेंस और अन्य वाहनों से बच्चों को परमानंद आश्रम पहुंचाया गया। कलेक्टर आशीष सिंह का कहना है कि बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए संस्था के अन्य परिसर में ही बच्चों को स्थानांतरित किया गया है।

आश्रम के सभी बच्चों में हुई हैजा की पुष्टि, 39 भर्ती

युगपुरुष धाम आश्रम के सभी बच्चों में हैजा की पुष्टि हुई है। यानी दूषित खानपान के कारण ही बच्चे बीमार हुए थे। अभी तक आश्रम से चाचा नेहरू अस्पताल में 85 बच्चों को इलाज के लिए लाया जा चुका है। इन सभी बच्चों की कल्चर रिपोर्ट भी आ गई है, जिसमें हैजा की पुष्टि हुई है। फिलहाल अभी 39 बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं। शेष बच्चों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री और उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ल ने कहा कि लापरवाही पर सख्त कार्रवाई मुख्यमंत्री के संज्ञान में है।

इंदौर जिले में पानी के 51 सैंपल लिए

इंदौर जिला प्रशासन की पहल पर जिले में हॉस्टल, आश्रम और स्कूलों में पीने के पानी और खाद्य सामग्रियों के सैंपल लिए जा रहे हैं। साथ ही कमियां मिलने पर सुधार के निर्देश दिए जा रहे हैं। तीसरे दिन शनिवार को दलों ने कई स्थानों पर 51 सैंपल लिए। यह सभी पानी के हैं।

अब हो रही अन्य संस्थाओं की भी जांच

शनिवार को जूनी इंदौर की टीम ने चार हॉस्टल को सुधार के नोटिस दिए। फोर्स फिजिकल फिटनेस और योगा सेंटर गणेश नगर पर पांच हजार और सत्कार गर्ल्स हॉस्टल पर 2100 रुपये का जुर्माना लगाया गया। अपर कलेक्टर सपना लोवंशी ने बताया कि जांच के लिए कुल 162 नमूने लिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *