दिल्ली में एंटी करप्शन ब्यूरो का बड़ा एक्शन 62 अस्पतालों और नर्सिंग होम में की छापेमारी

40 नर्सिंग होम्स में कई गड़बड़ियां पाई गई, इनमें से 4 अस्पताल तो ऐसे पाए गए हैं, जिनके पास नर्सिंग होम चलाने का लाइसेंस ही नहीं था

आॅक्सीजन सिलेंडर ब्लास्ट के चलते हुए अग्निकांड में 6 नवजात बच्चों की हो गई थी मौत

ब्रह्मास्त्र नई दिल्ली

दिल्ली के विवेक विहार में बेबी केयर सेंटर में आगजनी की घटना के बाद उपराज्यपाल के निर्देश पर बड़ी कार्रवाई की गई है। राजधानी के अस्पतालों और कई नर्सिंग होम पर छापेमारी की गई है। एसीबी की टीम ने दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि इस दौरान 4 अस्पताल अवैध रूप से चलते पाए गए, जबकि 40 अस्पतालों में कमियां पाई गईं।

 

कुछ दिन पहले ही दिल्ली के विवेक विहार स्थित बेबी केयर सेंटर में आॅक्सीजन सिलेंडर ब्लास्ट के चलते हुए अग्निकांड में 6 नवजात बच्चों की मौत हो गई थी। 5 बच्चों को जैसे तैसे बचाया गया था। जांच में पाया गया कि इस चाइल्ड अस्पताल में न केवल कई अनियमितताएं थीं बल्कि इसकी बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर अवैध रूप से आॅक्सीजन के सिलेंडरों की रीफिलिंग होती थी। इस घटना के बाद से ही एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस अस्पताल में तमाम खामियों को पकड़ा था। हालांकि इस घटना से सबक लेने के बाद एसीबी ने अब एक बड़ा एक्शन लिया है।

 

एंटी करप्शन ब्यूरो ने दिल्ली के 1190 अस्पतालों में से 62 अस्पतालों में औचक निरीक्षण कर पूरी जांच की है। जिनमें से 40 नर्सिंग होम्स में कई गड़बड़ियां पाई गई हैं। इनमें से 4 अस्पताल तो ऐसे पाए गए हैं, जिनके पास नर्सिंग होम चलाने का लाइसेंस ही नहीं था और ये धड़ल्ले से मरीजों का इलाज कर उनकी जान खतरे में डाल रहे थे। वहीं कई ऐसे अस्पताल भी पाए गए जिनके पास फायर क्लीयरेंस नहीं था। एसीबी के वरिष्ठ पदाधिकारी की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया कि जिन अस्पतालों की एसीबी ने जांच की है ये सभी नर्सिंग होम शहदरा, पूर्वी दिल्ली नार्थ ईस्ट दिल्ली और रोहिणी में स्थित हैं।

You may have missed