भाजपा के अनिल फिरोजिया ने पुराना जीत का  रेकार्ड तोडा-उज्जैन –आलोट संसदीय क्षेत्र में भाजपा की पौने चार लाख मतों के अंतर  से जीत

 

-कांग्रेस प्रत्याशी खूद की विधानसभा क्षेत्र में भी हारे, करीब 11 घंटे चला मतगणना का कार्य

 

उज्जैन। आम चुनाव 2024 की मतगणना का काम मंगलवार को सुबह 8 बजे से शुरू हुआ है। करीब 11घंटे बाद उज्जैन –आलोट संसदीय क्षेत्र की 8 विधानसभा क्षेत्र के मतगणना के परिणाम में भाजपा प्रत्याशी अनिल फिरोजिया को पौने चार लाख मतों से निर्वाचित घोषित किया गया है।

उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के महेश परमार 3 लाख 75 हजार 860 मतों से पराजित किया। संसदीय क्षेत्र की सभी 8 विधानसभा क्षेत्र में श्री फिरोजिया ने जीत दर्ज की है।

उज्जैन- आलोट संसदीय क्षेत्र में शामिल उज्जैन जिले की 7 विधानसभा क्षेत्र की मतगणना शासकीय इंजीनियरिंग कालेज उज्जैन एवं रतलाम जिले की आलोट विधानसभा क्षेत्र की गणना रतलाम के शासकीय आर्ट कालेज में की जा रही है। जिला निर्वाचन अधिकारी उज्जैन नीरज कुमार सिंह ने मतगणना की अधिकृत घोषणा की। प्रात: 8 बजे स्ट्रांग रूम खोलने के बाद विधानसभा वार बने मतगणना कक्षों में इवीएम पहुंचाने का काम किया गया। मतगणना का कार्य करीब 11 घंटे तक चला । इस दौरान निर्वाचन आयोग के पर्यवेक्षकों की उपस्थिति रही है।

उज्जैन में चौथे नंबर पर नोटा –

मालवा में शुरू से ही द्विदलीय स्थिति सामने रही है। यही हाल आम चुनाव 2024 में मतगणना से सामने आए हैं। भाजपा को सर्वाधिक मत के साथ विजय श्री मिली है वहीं कांग्रेस विपक्ष के रूप में रही है। तीसरे नंबर पर एडवोकेट प्रकाश चौहान रहे हैं उन्हें कुल 9518 मत प्राप्त हुए हैं।चौथे नंबर पर नोटा रहा है जिसे 9332 मत मिले हैं। आम चुनाव के मैदान में उतरे 7 प्रत्याशी अपनी जमानत भी नहीं बचा सके हैं।

73.69 प्रतिशत हुआ था मतदान-

आमचुनाव के 4 थे चरण में 13 मई को उज्जैन –आलोट संसदीय क्षेत्र में मतदान किया गया था। इसमें संसदीय क्षेत्र के 17 लाख 98 हजार 704 मतदाताओं में 9 लाख 7हजार 231 पुरूष एवं 8लाख 91 हजार 395 महिला एवं 78 अन्य मतदाता थे। इनमें से 13 लाख 25 हजार 454 मतदाताओं ने मतदान किया था। इसमें 7 लाख 4 हजार 895 पुरूष एवं 6 लाख 20 हजार 525 महिला मतदाताओं के साथ कुल 34 अन्य मतदाताओं ने मतदान किया था। संसदीय क्षेत्र में सबसे कम मतदान उज्जैन दक्षिण विधानसभा में 67.18 प्रतिशत  हुआ था और सबसे अधिक मतदान घट्टिया विधानसभा क्षेत्र में 77.73 हुआ था।  इस प्रकार से संसदीय क्षेत्र में कुल 73.69 प्रतिशत मतदान हुआ था।

 

ऐसी रही चक्रवार  भाजपा कांग्रेस की स्थिति-

चक्र        भाजपा          कांग्रेस         नोटा

  1. 43256 23417       474

2 .        88125       48775       1017

  1. 131681 71758       1503
  2. 179174 92571        1983
  3. 224633 115979      2476
  4. 271586 143575     2972
  5. 316106 168272      3501
  6. 364565 192483     4032
  7. 409991 215524     4454
  8. 452640 240255     4955
  9. 497763 260722       5425
  10. 546929 285416       5961
  11. 590405 312072       6498
  12. 632090 338054       7055
  13. 675039 359785      7530
  14. 718567 384711       8009
  15. 757837 411801       8485
  16. 789624 433040        8873
  17. 814626 448889       9124
  18. 828609 456097       9256
  19. 834374 459537      9310

डाक मत-  1730         713               22

स्त्रोत-जिला निर्वाचन द्वारा जारी चक्रवार मतगणना।

 

किस विधानसभा क्षेत्र में क्या रही स्थिति-

उज्जैन –आलोट संसदीय क्षेत्र में आने वाली आठ विधानसभा क्षेत्रों में उज्जैन जिले की सात विधानसभा क्रमश: उज्जैन दक्षिण,उज्जैन उत्तर, घट्टिया,बडनगर,तराना,महिदपुर,नागदा-खाचरौद के साथ ही रतलाम जिले की आलोट विधानसभा शामिल है। संसदीय क्षेत्र की सभी विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा को पर्याप्त तौर पर आम मतदाता का आशीर्वाद मिला है। सभी से भाजपा ने बढत हासिल की है। यहां तक की एक भी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस अपनी बढत दर्ज नहीं कर सकी है जबकि संसदीय क्षेत्र की तराना एवं महिदपुर विधानसभा पर कांग्रेस के विधायक काबिज हैं। सभी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवार अनिल फिरोजिया को जीत मिली है।

 

मतगणना स्थल पर कडी सुरक्षा-

मतगणना स्थल शासकीय इंजीनियरिंग कालेज परिसर और उसके बाहर सडक पर भी पुलिस ने कडी सुरक्षा व्यवस्था को अंजाम दिया था। चारों और से यहां बगैर पास धारी के लिए पहुंचना नामुमकिन सा था। चारों और बेरिकेडस से परिसर को घेर दिया गया था। मिडिया को ही अपने कवरेज के लिए पहुंचने में तीन चेक पाईंट बनाए गए थे। यहां तक की मिडिया के कवरेज के लिए बनाए गए स्थल के पूर्व बीडीएस का सुरक्षा द्वार से होकर गुजरना पडा। इसके साथ ही परिसर एवं इंजीनियरिंग कालेज-देवास रोड को जोडने वाले मार्ग पर भी पुलिस किसी को नहीं आने दे रही थी। मतगणना परिसर से 100 मीटर एवं 500 मीटर के दायरे का पालन पुलिस ने आमजन एवं राजनैतिक दलों के कार्यकर्ताओं से पुरी तरह से करवाया है।

 

भाजपा को पहली बढत उज्जैन उत्तर से मिली-

मतगणना हाल से पहला परिणाम उज्जैन उत्तर विधानसभा क्षेत्र में चल रही मतगणना के प्रथम राउंड का घोषित किया गया था। इसमें भाजपा को बढत की घोषणा की गई थी। इसके बाद तो एक के बाद एक क्रम से विधानसभा  वार चक्र वार की जा रही गणना की जानकारी में भाजपा की बढत बढती ही रही । 21 वें चक्र में यह बढत 3 लाख 74 हजार 843 मतों पर ठहरी । इसके साथ ही डाक मत पत्रों में भी भाजपा के अनिल को 1730 मतों का मतदाताओं ने सहयोग किया । इस तरह से अनिल फिरोजिया को संसदीय क्षेत्र से कुल 8 लाख 36 हजार 104 मत मिले और उनके निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के महेश परमार को 21 चक्र में कुल 4 लाख 59 हजार 531 मत मिले। श्री परमार को डाक मत पत्रों की गणना में कुल 713 मत प्राप्त हुए , इस प्रकार उन्हें कुल मत 4 लाख 60 हजार 244 प्राप्त हुए । भाजपा के अनिल फिरोजिया ने 3 लाख 75 हजार 860 मतों से जीत दर्ज की है।

कांग्रेस को गिनती की बार कुछ विधानसभा में मिली बढत-

कांग्रेस उम्मीदवार महेश परमार को मतगणना में गिनती की बार ही बढत की स्थिति मिल सकी  है। यहां तक की तराना विधानसभा क्षेत्र जहां से वे विधायक हैं वहां से भी उन्हें गिनती की बार ही बढत मिली है। कांग्रेस उम्मीदवार को पहली तीसरे राउंड में मात्र तराना विधानसभा में , छठे राउंड में मात्र नागदा-खाचरौद में, आठवें एवं 10 वें राउंड में मात्र उज्जैन उत्तर विधानसभा क्षेत्र में,13-14 वें राउंड में मात्र महिदपुर विधानसभा में,16 वें राउंड में घट्टिया विधानसभा में, 17 वें राउंड की गणना में मात्र घट्टिया एवं उज्जैन उत्तर विधानसभा में और इसके बाद अंतिम 21 वें राउंड की गणना में  घट्टिया विधानसभा में अधिक मत मिल सके। शेष  सभी  राउंड में सभी विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस पिछडते ही रहे।

दुसरी बार आमने सामने में हिसाब बराबर हुआ-

 

भाजपा के अनिल फिरोजिया एवं कांग्रेस के महेश परमार के बीच यह दुसरा चुनावी मुकाबला था। इससे पूर्व 2018 के विधानसभा चुनाव में तराना विधानसभा से दोनों के बीच सीधा मुकाबला हुआ था। उस मुकाबले में कांग्रेस के महेश परमार ने उनके गृह क्षेत्र  की विधानसभा से अनिल फिरोजिया को मात दे दी थी। इसके बाद 2019 के आम चुनाव में अनिल को भाजपा ने संसदीय चुनाव लडाया था जिसमें उन्होंने 2.63 लाख मतों के अंतर से अपने प्रतिद्वंदी को हराया था। आम चुनाव 2024 में भाजपा के सांसद प्रत्याशी अनिल फिरोजिया का सामना करने के लिए कांग्रेस ने विधायक तराना महेश परमार का चयन किया था। दोनों के बीच यह मुकाबला काफी रोचक बन पडा था। मतगणना के परिणाम में अनिल फिरोजिया ने दुसरी बार इस संसदीय क्षेत्र पर जीत दर्ज करते हुए  महेश परमार से अपनी 2018 की हार का हिसाब चुकता कर लिया है।

 

निम्न गुणवत्ता का भोजन बटा खाद्य सुरक्षा अधिकारी निलंबित-

 

लोकसभा निर्वाचन-2024 की मतगणना स्थल पर निम्न गुणवत्ता के भोजन वितरित करने पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी बी एस देवलिया को निलंबित किया गया है। मतगणना के दौरान निम्न गुणवत्ता की शिकायत प्राप्त होने पर कलेक्टर ने भोजन की गुणवत्ता की जाँच करने के बाद यह कार्रवाई की है।जॉच के दौरान पाया गया कि मतगणना में लगे अधिकारियों/कर्मचारियों को वितरण हेतु लाये गये भोजन के पैकेट की गुणवत्ता बहुत ही निम्न पाई गई। जिस पर कलेक्टर श्री सिंह के निर्देशानुसार निम्न गुणवत्ता के सभी फूड पैकेट्स रिप्लेस किए गए ओर मतगणना में संलग्न अधिकारियों कर्मचारियों को गुणवत्तापूर्ण फूड पैकेट्स का त्वरित रूप से वितरण किया गया। उल्लेखनीय है कि लोकसभा निर्वाचन-2024 में भोजन वितरण व भोजन की गुणवत्ता परिक्षण का दायित्व बी.एस. देवलिया, खाद्य सुरक्षा अधिकारी, उज्जैन को सौंपा गया था, किन्तु उनके द्वारा उन्हें सौंपे गये दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही बरती गई। जिस पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री देवलिया को मध्यप्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम, 1966 के नियम 9 (1) (क) के अंतर्गत निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

You may have missed