तेज गर्मी को देखते हुए भोपाल में सरकारी डॉक्टरों की छुट्टियों पर रोक, इंदौर के सीएमएचओ अभी भी नींद में, कई अस्पतालों में डॉक्टर नहीं आ रहे काम पर

इंदौर। पूरे प्रदेश में भीषण गर्मी को देखते हुए भोपाल के सीएमएचओ ने समस्त सरकारी अस्पतालों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। इन दिशानिर्देशों में मरीजों को तेज धूप से बचाने के साथ उनके लिए पर्याप्त सुविधाएं जुटाने के निर्देश दिए गए हैं, साथ ही इन दिनों वायरल, लू और अन्य मौसमी बीमारी के मरीजों की संख्या को देखते हुए डॉक्टरों और अधिकारियों की छुट्टियों पर रोक लगाई गई है। अब डॉक्टर बिना पूर्व सूचना के छुट्टियां नहीं ले सकेगा।
उसके बाद भी इंदौर के सीएमएचओ डॉ बीएस सेत्या की नींद नहीं खुली है इंदौर के कई शासकीय अस्पतालों में डॉक्टर छुट्टी पर है जहां मरीजों की भीड़ लगी हुई इन मरीजों को देखने वाला कोई नहीं है।

एम वाय अस्पताल के भी यही हाल है यहां पर भी कई डॉक्टर छुट्टी मना रहे हैं। मालूम हो कि इन दिनों शहर में तापमान 44 डिग्री के आसपास चल रहा है। भीषण गर्मी से लोग पानी की कमी यानि डिहाइड्रेशन के शिकार हो रहे हैं। यही नहीं, इन दिनों लू और अन्य मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या भी बढ़ गई है।
ऐसे में मरीजों को राहत देने के डॉक्टर की छुट्टी रद्द कर दी गई है। यह आदेश पूरे प्रदेश के लिए लेकिन है लेकिन इंदौर में इस आदेश का पालन नहीं हो रहा है।

अस्पतालों को यह दिशा निर्देश-

मरीजों के बैठने के लिए छायादार जगह। कूलर, पंखे, एसी के साथ पीने के पानी की व्यवस्था। मरीजों को पर्चे या अन्य कामों के लिए खड़े न रहना पड़े, टोकन सिस्टम का इस्तेमाल किया जाए। वाडों में भी गर्मी को दूर करने के पर्याप्त साधन हों, ऐसी कूलर के साथ अन्य जरूरी व्यवस्थाएं हों। अस्पतालों में उपयोग होने वाली मशीनों की कूलिंग के लिए बेहतर व्यवस्था की जाए।
इसका पालन भी एमवाय व अन्य शासकीय अस्पताल में नहीं किया जा रहा है। इसके बाद भी जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहा हैं।

You may have missed