April 15, 2024
दैनिक अवंतिका(उज्जैन) बीमारी के चलते जिला अस्पताल में भर्ती वृद्ध की मंगलवार रात मौत हो गई थी। जिसका अंतिम संस्कार बुधवार सुबह मुस्लिम परिवार द्वारा हिंदू रीति के साथ चक्रतीर्थ पर कराया गया। खाराकुआं थाना पुलिस ने बताया कि राम रतन शर्मा मार्ग पर रहने वाला रमेश पिता बंसीलाल 62 वर्ष छत्री चौक पर फल फ्रूट का ठेला लगाता था। उसका विवाह नहीं हुआ था और परिवार में आगे पीछे कोई नहीं था। उसने मिल्कीपूरा में रहने वाली सलमा बी को अपनी बहन बना रखा था। अस्पताल में मौत होने के बाद परिजनों की तलाश करने पर उसकी मुस्लिम बहन की जानकारी सामने आने पर सूचना दी गई। बहन के पुत्र समीर ने अस्पताल पहुंचकर मृतक रमेश की पहचान की और बताया कि रमेश की अंतिम इच्छा थी कि उसकी मौत के बाद अंतिम संस्कार हिंदू रीति के अनुसार किया जाए उसे लावारिस नहीं समझा जाए। समीर ने मुंह बोले चाचा की अंतिम इच्छा पूरी करने की जानकारी पुलिस को दी और पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार अपने परिवार के साथ मिलकर चक्रतीर्थ पर किया। समीर ने बताया कि रमेश की एक बहन थी जिसे मुस्लिम युवक के साथ सालों पहले ने कहा कर लिया था और हैदराबाद रहने चली गई थी। उसे भाई रमेश की मौत का पता चल तो वह उज्जैन के लिए रवाना हो गई थी