हाथ में तिरंगा लेकर 234 दिन की पैदल यात्रा कर उज्जैन महाकाल के दरबार में पहुंचा कहां देश के जवानों को है यात्रा समर्पित

दैनिक अवन्तिका
उज्जैन। 234 दिन की पैदल यात्रा करने के बाद उत्तर प्रदेश के बदायूं का युवक गुरुवार शाम उज्जैन पहुंचा। यहां महाकाल दर्शन के बाद वह अन्य तीर्थ स्थलों के लिए पैदल रवाना होगा। देश के जवानों की सलामती  के लिए उत्तर प्रदेश बदायूं जिले का एक युवा राहुल शर्मा चारधाम की पैदल यात्रा पर निकला है। हाथ में तिरंगा लेकर पैदल निकले राहुल शर्मा ने यह यात्रा देश के जवानों को समर्पित की है। अभी तक राहुल शर्मा 234 किमी का पैदल सफर तय कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने केदारनाथ, बैधनाथ, काशी विश्वनाथ, पशुपतिनाथ, ओंकारेश्वर, खाटू श्याम व पांच शक्तिपीठ के दर्शन कर लिए हैं। गुरुवार शाम वह उज्जैन पहुंचे। यहां महाकाल दर्शन कर अन्य देवी देवताओं के दर्शन करने के बाद वह गुजरात के लिए रवाना होंगे। राहुल शर्मा ने बताया कि वह उज्जैन में तीन दिन सभी देव स्थलों के दर्शन करेंगे और सोमवार को गुजरात सोमनाथ के लिए रवाना होंगे। उन्होंने यात्रा की शुरुआत 30 मई 2023 से की ओर वह 12 ज्योतिर्लिंग की यात्रा पर निकले हैं। वह 551 दिन की यात्रा पर निकले हैं। राहुल देश के जवानों की सलामती के लिए 12551 किलोमीटर पैदल चलेंगे। अभी तक वह 234 दिन में साढ़े छे हजार किलोमीटर पैदल चल चूके हैं। और गुरुवार शाम उज्जैन पहुंचकर सीधे बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे। राहुल शर्मा ने बताया कि वह उज्जैन के एसपी सचिन शर्मा के गांव से है। और उन्होंने आगे बताया कि वह शुरू से ही धर्म के कार्यक्रमों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते आए हैं। यात्रा आर्मी के जवानों को समर्पित करने वाले राहुल शर्मा ने आगे बताया कि वह अकेले हैं उनके परिवार में माता-पिता का देहांत हो गया है। तथा वह ग्राम पिवारी के नाग देवता मंदिर के पुजारी है। चारों धाम की यात्रा करने के लिए निकले दीपक शर्मा ने बताया की यात्रा शुरू करने के बाद ऐसा लग रहा है कि मेरा महत्व पूर्ण मकसद पूर्ण हो गया है।
Author: Dainik Awantika