April 15, 2024

दैनिक अवंतिका उज्जैन। लगातार तीसरे दिन बुधवार को मावठे के कारण उज्जैन शहर ठंडा रहा। सुबह से लोग धूप निकलने का इंतजार करते रहे लेकिन सूरज देवता के दर्शन नहीं हुए। हालांकि कुछ जगह धूप निकली भी तो कुछ ही देर में गायब भी हो गई।  सुबह से शाम व रात तक ठंडक बनी रही। उज्जैन की शासकीय जीवाजी वेधशाला के अनुसार शहर में रात का तापमान 16 व दिन का 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं हवा सुबह 2 व शाम 4 किलो मीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चली। सुबह आद्रता 90 तो शाम 84 प्रतिशत दर्ज की गई।मावठा रहा पर बारिश  नहीं, अब तक 34  मिमी.उज्जैन में पहले दिन ही मावठे के दौरान तेज बारिश हुई थी। इसके बाद मंगलवार और बुधवार को बारिश नहीं हुई। केवल मावठे से ठंडक बनी रही। अब तक उज्जैन जिले में 34 मिली मीटर बारिश ही दर्ज की गई है जो कि पहले दिन की है। वेधशाला अधीक्षक डॉ. आरपी गुप्त ने बताया बादल छाए रहने के कारण तापमान में ज्यादा गिरावट नहीं आ रही है। मावठे केे कारण यह ठंडक बनी है लोगों ने गरम कपड़े निकालेशुुरुआत में ही ठंड तेज पड़ रहीशहर में ठंड के कारण कई लोगों ने गरम  कपड़े से अभी से निकाल लिए। ठंड की शुरुआत में ही तेज पड़ने लगी। इसका असर स्कूलों में भी देखने को मिल रहा है। छोटे बच्चे स्कूल ही नहीं जा रहे हैं। ऐसे कम-ज्यादा हो रहा उज्जैन शहर का तापमानतारीख      दिन में  रात में 23 नवंबर  29.8     13.724 नवंबर  29.5     14.525 नवंबर  29.0     14.226 नवंबर  23.7     16.227 नवंबर  21.5     15.028 नवंबर  24.8     17.029 नवंबर  23.0     16.4मावठे से किसान फसल को फायदा होना बता रहे
इस मावठे से गेहूं की फसल को फायदा है। यह बात जिले के किसान खुद कह रहे हैं। किसानों का कहना है कि तापमान गिरने से गेहूं की फसल की ग्रोथ अच्छी होती है। यह मौसम फसलों के लिए अनुकूल है।