बॉर्डर से आए फौजी का भव्य स्वागत…17 साल तक बॉर्डर पर भारत माता की सेवा

उज्जैन।  मां अहिल्या की नगरी तराना में राष्ट्र सेवा कर अपने घर लौटे भारतीय सेवा के जवान का गांव के लोगों ने अभूतपूर्व स्वागत कर यह दिखा दिया कि आम जनता के मन मे भारतीय सेना का क्या स्थान है। भारतीय थल सेना में रहकर 17 वर्ष राष्ट्र रक्षा करके सेवा निवृत्त हुए जवान विजय यादव को शासकीय सी,एम राइज स्कूल पर लेने बड़ी संख्या में नगरवासियों और युवा पहुंचे।

17 साल तक बॉर्डर पर भारत माता की सेवा और देशवासियों की रक्षा करने के बाद रिटायर्ड हुए फौजी का तराना नगर वासियों ने किया भव्य स्वागत.. 

नगरवासियों ने भारत माता के जयकारों के साथ ढोल ढमाके और हर्षोल्लास से पुष्प बरसाकर स्वागत किया. सी,एम राइज स्कूल से लेकर सैनिक के घर तक सेवा निवृत्त फौजी विजय यादव को नगरवासियों ने जन रैली निकालकर ले गए.जगह-जगह उनका स्वागत पुष्पवर्षा से किया गया. साथ ही भारत माता की जय और वन्देमातरम के नारों से पूरी रैली सराबोर हो गई।पूरे रास्ते भारत माता के जयकारे लगाए ,इस दौरान वाहनों पर तिरंगा लगाया गया. पूरे रास्ते भारत माता के जयकारे लगाए गए. घर पहुंचने पर अपनी माटी के लाल के स्वागत में ग्रामीणों ने पलक-पावड़े बिछा दिए.। जगह-जगह पर पुष्प वर्षा के साथ माला पहनाकर स्वागत किया गया. फौजी विजय यादव ने कहा कि हमारे लिए न केवल गर्व की अनुभूति का प्रतीक है बल्कि प्रेरणा स्रोत भी हैं.। यादव की प्रेरणा से आज नगर के कई युवा देश सेवा के लिए फौज में जाने की तैयारी कर रहे हैं।सेवानिवृत्त जवान विजय यादव ने बताया कि मैं भारतीय थल सेना में 17 साल देश के लिए सेवा कर सेवानिवृत्त होकर वापस अपने गांव लौटा हूं. मुझे काफी गर्व है कि मैंने अपने देश की सेवा की है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सभी युवा वर्ग से यही कहना चाहूंगा कि आप सब भी भारतीय सेना ज्वॉइन करिए. यहां सेवा के साथ-साथ अपना जीवन कैसे जीना है. हर क्षेत्र में काम करने का तरीका भी सिखाया जाता है।

Author: Dainik Awantika