न भाजपा ने टिकट दिया न कांग्रेस ने , जैन समाज नाराज, ले सकता है बड़ा फैसला

इंदौर। विधानसभा चुनाव में इंदौर की सभी ,9 सीटों पर भाजपा और कांग्रेस से कौन चुनाव लड़ेगा ये तस्वीर साफ हो गई है। जैन समाज ने कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों से जैन समाज के एक-एक नेता को टिकट देने की मांग की थी। परंतु दोनों ही दलों ने किसी को भी टिकट नहीं दिया। इस अनदेखी से जैन समाज दोनों ही दलों से नाराज है और एक-दो दिन में बड़ा निर्णय लेने की बात कही जा रही है। जैन समाज के लोगों ने दोनों ही पार्टियों से अपनी दावेदारी जताई थी लेकिन भाजपा-कांग्रेस किसी से भी समाज को टिकट नहीं मिला है।

दोनों ही पार्टी से समाज के लोगों ने मांगे थे टिकट, सिख, मुस्लिम भी खाली हाथ..

गौरतलब है कि कांग्रेस- भाजपा दोनों ने ही सिख, जैन ,मुस्लिम, इसाई वर्ग से किसी को भी टिकट नहीं दिया है। हालांकि दूसरे वर्गों की मांग मजबूती के साथ सामने नहीं आई थी, परंतु गोम्मटगिरी विवाद के बाद जैन समाज के कर्ताधर्ताओं ने तो स्पष्ट रूप से कहा था कि जो जैन समाज को टिकट देगा , उसी दल को हम समर्थन देंगे। परंतु, इंदौर जिले में प्रभाव रखने वाले दो प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस ने इस बार ध्यान नहीं दिया। जैन समाज के किसी भी व्यक्ति को टिकट नहीं दिया है। अब जैन समाज के सामने भी विचित्र स्थिति है कि वह अपनी घोषणा के अनुसार किसे समर्थन दे या न दे।

Author: Dainik Awantika