पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा-मैं शिवराज की प्रवक्ता थोड़ी हूं, वे खुद देंगे आरोपों के जवाब

सीहोर। डीएमके टनेता उदयनिधि स्टालिन व्दारा सनातन धर्म को बीमारी बताने वाले बयान को लेकर विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A को कोसने का भाजपा कोई मौका नहीं छोड़ रही है। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने पार्टी लाइन से अलग रुख दिखाया है। उमा ने कहा कि ‘मैं नेताओं से आग्रह करूंगी कि इसको राजनैतिक मंच से बिल्कुल डिस्कश नहीं किया जाए। यह राजनेताओं का विषय नहीं है। यह पूर्णत: संतों और धार्मिक विद्वानों का विषय है। वे ही आपस में तय करेंगे कि क्या करना है। रही बात तमिलनाडु के डीएमके नेताओं की तो वे तो हमेशा से तिलक काटते रहे, चोटियां काटते रहे। औरतों के गले में जूतों की माला पहनाते रहे। ऐसी बातों को सार्वजनिक मंच पर लाना उचित नहीं। मैं तो सभी पार्टियों से निवेदन करूंगी कि आप रोटी कपड़ा और मकान की बात करें।’
उमा ने यह बात मंगलवार को सीहोर में कही। वे गणेश चतुर्थी के मौके पर यहां श्री चिंतामण गणेश मंदिर में पूजन करने पहुंची थीं। पूर्व मुख्यमंत्री से जब पूछा गया- ‘कमलनाथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को झूठ बोलने की मशीन कह रहे हैं’ तो उमा ने जवाब दिया- शिवराज जी इसका जवाब देंगे। मैं शिवराज की प्रवक्ता थोड़ी हूं।

You may have missed