April 15, 2024

उज्जैन। चंद्रयान के कल शाम चंद्रमा पर कदम पड़ते ही दुनिया भर को लोहा मनवा लेने वाली इस बड़ी कामयाबी पर देश- विदेश सहित प्रदेश भर में जश्न मनाया गया। पूरा हिंदुस्तान खुशी से झूम उठा। भारत की यह सफलता अद्भुत अविस्मरणीय है। इसरो ने वह कर दिखाया,जिसे रूस, चीन और अमेरिका भी नहीं कर सके। मध्य प्रदेश के सभी शहरों में जमकर जश्न मनाया गया।

उज्जैन के महाकाल मंदिर में विशेष श्रंगार

चंद्रयान-3 की सफलता के लिए उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में विशेष पूजन-अर्चन किया गया। ‘चंद्रयान की चांद पर सफल लैंडिंग के लिए भगवान महाकाल का पूजन अभिषेक कर भस्म आरती की गई थी।’
इसरो चीफ डॉ. एस. सोमनाथ बीती 24 मई को उज्जैन आए थे। उन्होंने महाकालेश्वर सहित अन्य मंदिरों के दर्शन किए थे। इसरो प्रमुख ने महाकाल मंदिर में चंद्रयान-3 की सफलता के लिए प्रार्थना भी की थी।
महाकाल मंदिर में चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग के बाद बाबा का विशेष श्रृंगार किया गया। इसरो ने चांद पर चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग कर इतिहास रच दिया है। चंद्रयान-3 ने बुधवार शाम 5 बजकर 44 मिनट पर लैंडिंग की प्रोसेस शुरू की। शाम 6 बजकर 4 मिनट पर लैंडर ने चांद पर पहला कदम रखा। इसी के साथ भारत चांद के दक्षिणी ध्रुव पर कामयाब लैंडिंग करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। इसरो के मिशन के कामयाब होते ही देशभर के साथ मध्यप्रदेश में भी जश्न का माहौल बन गया।
भोपाल के रीजनल साइंस सेंटर में वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगे। इंदौर में युवाओं ने रैली निकालकर ढोल-ढमाके के साथ डांस किया। उज्जैन, ग्वालियर, रतलाम, विदिशा, सागर, जबलपुर में लोगों ने मिठाइयां बांटकर खुशी मनाई। शहरों से लेकर गांवों तक उत्साह दिखा।
चंद्रयान-3 की लैंडिंग सफलतापूर्वक होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी लोगों को बधाई दी। इसरो द्वारा 14 जुलाई 2023 को चंद्रयान-3 चंद्रमा की सतह पर भेजा गया था।
भोपाल में हाथों में तिरंगा लेकर चंद्रयान की सफलता का जश्न मनाया गया। चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग होते ही ये सभी खुशी से झूम उठे। नारे लगाने लगे। एक स्टूडेंट्स ने कहा, ‘हमारा तिरंगा चंद्रमा पर लहराया है। हम बहुत खुश हैं।’ लोगों ने जश्न मनाते हुए एक-दूसरे का मुंह मीठा कराया। इंदौर में राजवाड़ा पर जय श्री राम के नारे भी लगे। लोगों ने हाथों में तिरंगा थाम रखा था।