April 19, 2024

उज्जैन। चायना डोर से पतंग उड़ाओगे तो जाओगें जेल…चायना डोर से मत करो खेल, वरना जाना पड़ेगा जेल। ऐसे ही स्लोगन की तख्तियां लेकर सोमवार को पुलिस सड़को पर निकली। मकसद था चायना डोर के दुष्परिणामों से लोगों को जागरुक करने का।
मकर संक्रांति से 45 दिन पहले चायना डोर पर लगाए गए प्रतिबंध के बाद से पुलिस दुष्परिणामों को रोकने के प्रयास में लगी हुई है। दुकानों पर चैकिंग के साथ छतों से चायना डोर का उपयोग कर रहे पतंग उड़ाने वालों को पकड़ा जा रहा है। प्रशासन और पुलिस पूरी तरह से कोशिश में लगा है कि पिछले वर्ष जिस तरह प्रतिबंधित डोर से छात्रा का गला कटा था और जान गई थी, ऐसा हादसा अब हो। बावजूद युवा चायना डोर का उपयोग कर रहे है। जिसको लेकर सोमवार को महाकाल थाना सीएसपी ओपी मिश्रा, एसआई बल्लू मंडलोई, जयंत डामोर, अनिल ठाकुर, एएसआई संतोष राव, लोकेन्द्रसिंह बैस ने टीम बनाकर थाना भवन से एक जागरुकता रैली निकाली। महाकाल घाटी, बेगमबाग के साथ आसपास के क्षेत्रों में पुलिस ने चायना डोर का उपयोग नहीं करने की अपील की। पुलिस के हाथों में तख्तियां थी, जिस पर लिखा था, चायना डोर से मत करो खेल वरना जाना पड़ेगा जेल, चायना डोर का छोड़ों कनेक्शन, यह है सबकी जान की दुश्मन। ऐसे ही स्लोगन के साथ पुलिस द्वारा देशी मांजे से पतंगबाजी करने और कहा कि खुशियों की होगी बौछार, देशी मांझे से मनाओं त्यौहार। जागरुकता रैली को देख क्षेत्रवासियों ने भी चायना डोर का उपयोग नहीं करने का वचन पुलिस को दिया। गौरतलब हो कि पुलिस और प्रशासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बीच चायना डोर का उपयोग करने वालों का पता लगाने के लिये ड्रोन उड़ाया जा रहा है। जिसके चतले पतंगबाजों की संख्या कुछ दिनों से कम दिखाई दे रही है। शहर के सभी थानों की पुलिस अपने अनुभाग में मुनादी भी कर रही है।