April 15, 2024

इंदौर। जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। रविवार को 440 सैंपल जांचे गए। इनमें से 70 सैंपल संक्रमित मिले हैं। यानी संक्रमण दर 16 प्रतिशत रही। इंदौर जिले में उपचाररत मरीजों की संख्या 400 के ऊपर पहुंच गई है। राहत की बात यह है कि रविवार को 36 मरीजों ने बीमारी को हराया और कोरोना को जीतकर पूरी तरह से ठीक हो गए। विशेषज्ञों का कहना है कि भले ही संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है लेकिन राहत की बात यह है कि संक्रमण पहली और दूसरी लहर की तरह खतरनाक साबित नहीं हो रहा है। कोरोना वायरस से संक्रमितों में सर्दी-जुकाम और अन्य सामान्य लक्षण हैं। गंभीर लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं। संभवत: हम हर्ड इम्युनिटी की तरफ बढ़ रहे हैं।
अप्रैल-मई 2021 में जिले मेंं कोरोना के उपचाररत मरीजों की संख्या बीस हजार के आसपास पहुंच गई थी लेकिन इसके बाद इसमें लगातार कमी आई। हालांकि कोरोना की तीसरी लहर के दौरान यह एक बार फिर बढ़ने लगी थी। इसके बाद यह कम होते-होते दो अंक में पहुंच गई थी। फरवरी-2022 के अंत में तो यह इक्का-दुक्का रह गई थी। इसके बाद यह एक बार फिर बढ़ने लगी। वर्तमान में 401 मरीज हैं जिनका कोरोना का इलाज चल रहा है। हालांकि इनमें से ज्यादातर को कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। ये लोग घर पर ही खुद को आइसोलेटेड किए हुए हैं। फिलहाल अस्पताल में भर्ती कोरोना के मरीजों की संख्या एक दर्जन के लगभग है। ये वे लोग हैं जो किसी अन्य बीमारी के इलाज के लिए भर्ती हुए थे, इलाज के दौरान इनकी जांच हुई तो पता चला कि वे कोरोना से भी संक्रमित हैं।