April 18, 2024

शुजालपुर। सिविल अस्पताल शुजालपुर सिटी में पदस्थ एक 26 वर्षीय महिला चिकित्सक के साथ कार्य के दौरान मरीज के साथ आए कुछ युवकों ने अभद्रता करते हुए अश्लील इशारे किए और जान से मारने की धमकी दी। इस घटना को लेकर अस्पताल में पदस्थ चिकित्सकों ने आक्रोश व्यक्त किया और सामुहिक रूप से पुलिस थाना पहुंचकर अभद्रता करने वाले युवकों के विरूद्घ शासकीय कार्य में बाधा सहित अश्लील इशारे करने का मामला दर्ज किया। पुलिस थाना सिटी से मिली जानकारी अनुसार फरियादिया ने सिविल अस्पताल सिटी में पदस्थ कुछ चिकित्सकों के साथ थाने पर पहुंचकर लेखिय आवेदन दिया। जिसमें कहा कि वह सिविल अस्पताल शुजालपुर सिटी में पदस्थ है और 8 जुलाई की रात्रि में ड्यूटी पर थी, उसी दौरान मरीज भोला पिता गोविंद निवासी रायकनपुरा शुजालपुर सिटी का इलाज कराने के लिए आया जिसने बताया कि वह ऊपर से गिर गया है, जिसके कारण पैरों में चोट लगी। महिला चिकित्सक के अनुसार उसने मरीज भोला की जांच की और पर्चा बनाते हुए इंजेक्शन व दवाईयां लिखकर दे दी। इसके उपरांत रेडक्रास वार्ड में दूसरे मरीज को देखने के लिए चली गई। जहां से वापस आने पर भोला की प्रीएमएलसी बना रही थी तो भोला ने अपने साथी रोहित अहिरवार पिता राधेश्याम निवासी रायकनपुरा को बुलाया। चिकित्सक ने जब रोहित को बोला की भोला को बुला लाओं तो उसने अश्लील इशारे किए और घुरने लगा। साथ ही उसके अन्य दो साथियों ने भी अभद्रता की। आरोपियों ने शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न कर हमला करने की तैयारी व जान से मारने की धमकी दी। इस शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के विरूद्घ धारा 354डी, 509, 186, 353, 506, 34 भादवि एवं मध्यप्रदेश चिकित्सक तथा चिकित्सा सेवा से संबंद्घ व्यक्तियों की सूरक्षा अधिनियम 2008 की धारा 3/4 के तहत अपराध कायम कर जांच में लिया।