April 15, 2024

उज्जैन। क्राइम ब्रांच की टीम ने एक बार फिर से शहर में संचालित हो रहे ऑनलाइन सट्टे के मामले में बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है। सट्टे के खिलाफ एक महीने की अवधि में यह दूसरी बड़ी कार्यवाही है। दो कारों में सवार 7 लोगों को क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार किया है, इनका एक साथी मिर्ची नाला के पास से पकड़ा गया है।
चिंतामण रोड़ से गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम जयेश पिता नारायणदास आहूजा निवासी शास्त्रीनगर, नवीन पिता प्रवीण गेहलोत निवासी मोती तबेला इंदौर, अमित पिता महेश राठौर निवासी इंदिरा नगर इंदौर, योगेश पिता बाबूलाल निवासी बाणगंगा इंदौर, लक्ष्मी पिता भालेराव निवासी धार, गोपाल उर्फ इमली निवासी इंदौर, दीपेश पिता अनिल कुकरेजा निवासी मरीमाता इंदौर है। इनका एक साथी कादर निवासी जांसापुरा उज्जैन मिर्चीनाला के पास से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से पुलिस ने एक क्रेटा कार, एक आई-10 कार, 26 पोट की इंटरनेट पेटी, 48 की-पेड और एंड्रायड मोबाइल, 4 इंटरनेट डोंगल और 4 लैपटॉप सहित 21 हजार रूपए नगद जब्त किए है।
खाराकुआं पुलिस की टीम ने शनिवार की शाम मिर्ची नाला क्षेत्र में मोबाइल पर ऑनलाइन सट्टा करते हुए जांसापुरा निवासी कादर को हिरासत में लिया था। पूछताछ में कादर ने बताया कि वह शास्त्रीनगर निवासी जयेश आहूजा के लिए काम करता है। जयेश आहूजा ऑनलाइन सट्टे के मामले में लंबे समय से संलिप्त है। पूर्व में भी माधवनगर पुलिस ने उसके एक अड्डे पर दबिश दी थी, तब जयेश पुलिस के हाथ नहीं आ सका था। प्रकरण में आरोपी बनाए जाने पर उसे न्यायालय से अग्रिम जमानत मिल गई थी। जयेश अक्सर उज्जैन से बाहर रहकर ही ऑनलाइन सट्टे का कारोबार किया करता है। फिलहाल इंदौर के कुख्यात सटोरिए गोपाल उर्फ इमली के साथ मिलकर अवैध कारोबार कर रहा था। जयेश आहूजा ऑनलाइन सट्टे के लिए जिन मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता था, उनके नंबर मिर्ची नाला से पकड़े गए कादर ने पुलिस को उपलब्ध करवाए थे। कादर से मिली सूचना के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने मोबाइल नंबर ट्रेक करना शुरू किए। इनकी लोकेशन चिंतामण क्षेत्र में मिली। मोबाइल लोकेशन के आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने चिंतामण के पास से 2 कारों में बैठकर ऑनलाइन सट्टा उतार रहे जयेश आहूजा और उसके 6 साथियों को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया।