April 15, 2024

पुणे की आईटी कंपनी के मालिक को महंगी गाड़ियां और लग्जरी लाइफ स्टाइल से दिया झांसा, गिरफ्तार

इंदौर। पुणे पुलिस ने इंदौर की कनाडिया पुलिस की मदद से एक करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में इंदौर में लिव इन में रहने वाली ठगोरी जोड़ी ‘बंटी-बबली’ को गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ पुणे की एक आईटी कंपनी के मालिक ने इन्वेस्टमेंट के नाम पर ठगी करने की शिकायत दर्ज कराई थी। आरोपी युवक-युवती इंदौर में काफी समय से रह रहे थे। पुणे पुलिस दोनों को अपने साथ ले गई है।

एमबीए की पढ़ाई के दौरान हुई थी पहचान

शिकायतकर्ता राहुल जायसवाल के मुताबिक इंदौर में एमबीए की पढ़ाई के दौरान पुष्पेन्द्र सोलंकी से दोस्ती हुई थी। पुष्पेन्द्र ने उसे बताया था कि इंदौर में वह एक्यूमेन फूड स्टफ ट्रेडिंग नाम से कंपनी चलाते हैं। पुष्पेन्द्र ने राहुल को कंपनी के जरिए ड्रायफ्रूट और अन्य सामान इंपोर्ट-एक्सपोर्ट करने की बात कही थी। पुष्पेन्द्र ने अपनी लिव इन पार्टनर और ठगी में साथ देने वाली प्रियंका मंगवानी के साथ मिलकर राहुल को कंपनी में इन्वेस्टमेंट करने के लिए राजी कर लिया। इसके बाद पुष्पेन्द्र ने करीब डेढ़ साल में राहुल से एक करोड़ रुपए की राशि ले ली और फिर राहुल का मोबाइल उठाना बंद कर दिया। राहुल के मुताबिक आरोपी ने उसे डॉक्यूमेंट में तीन लाख का प्रॉफिट होना भी बताया। लेकिन रुपए नहीं दिए।
जानकारी के अनुसार पुष्पेन्द्र की पहले शादी हो चुकी है, उसकी दो बेटियां भी हैं। लेकिन वह अपनी पत्नी के अलावा प्रियंका के साथ भी फ्लेट में लिव इन में रहता है। पुलिस के मुताबिक धोखाधड़ी करने वाला पुष्पेन्द्र मंहगी गाड़ियों का शौकीन है। वह बीएमडब्लयू कार के अलावा थार और अन्य गाड़ियों से घूमकर इंपोर्ट-एक्सपोर्ट के नाम पर ठगी करता था। महाराष्ट्र पुलिस के मुताबिक अभी वह मामले में आरोपियों को लेकर फिर से इंदौर आएगी। जहां उनसे प्रकरण के संबंध में दस्तावेज भी जब्त किए जाएंगे।