April 24, 2024

उज्जैन। केन्द्रीय जेल भैरवगढ़ की अधीक्षक के बंगले में गुरुवार शाम अनियंत्रित ट्रेक्टर दिवार तोड़कर घुस गया। हादसे में जेल अधीक्षक बाल-बाल बच गई। पुलिस ने ट्रेक्टर चालक को हिरासत में लिया है।
बताया जा रहा है कि शाम 4 बजे के लगभग जेल अधीक्षक उषाराजे ने अपने बंगले में प्रवेश किया ही था कि अचानक पीछे से बिना नम्बर का ट्रेक्टर अनियंत्रित होकर दिवार तोड़ता हुआ अंदर आ घुसा। जेल अधीक्षक जान बचाकर दौड़ती। आवाज सुनकर जेल संतरी बंगले पहुंच गये और ट्रेक्टर चालक और उसके साथी को पकड़ जमकर पीट दिया। घटनाक्रम की जानकारी लगते ही भैरवगढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों को हिरासत में लिया गया है। एसआई सत्यनारायण प्रजापति ने बताया कि हिरासत में आया ट्रेक्टर चालक नरेन्द्र रावत ग्वालियर के ग्राम सुगनाखेडिया का रहने वाला है। उसका साथी मुकेश पाल शिवपुरी है। दोनों क्षेत्र में चल रहे टाटा प्रोजेक्ट में ठेकेदार अरविंद राय के पास काम करते है। चालक का कहना था कि ट्रेक्टर में पावर स्टेरिंग है, आटो सामने आने पर बचाने का प्रयास करते समय अनियंत्रित होने पर बंगले में घुस गया था।
अधीक्षक ने लगाया मारने का आरोप
जेल अधीक्षक उषाराजे ने इसे हत्या का प्रयास बताया है। उनका कहना था कि उन्होने जेल में कई कर्मचारियों और अधिकारियों की अवैध गतिविधियों को बंद कर दिया है। जिसके चलते पहले भी उनकी हत्या की कोशिश की गई थी। आज ट्रेक्टर से कुचलने का प्रयास किया गया। बंगले गेट पर लगे नट और पुरजे टूटकर उछले थे, जिससे उनके पैर में चोंट आई है।