April 15, 2024

ब्रह्मास्त्र जयपुर
उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने वाले रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद राजस्थान के 8 जिलों में आईएसआईएस के लिए स्लीपर सेल बना रहे थे। रियाज ने इसके लिए पाकिस्तान के कराची में आतंक की ट्रेनिंग भी ली थी। रियाज 20 साल पहले घर छोड़कर उदयपुर आ गया था। यहां उसकी दोस्ती गौस मोहम्मद से हुई थी। इसी दौरान रियाज पाकिस्तान से आॅपरेट होने वाले ग्रुप दावत-ए-इस्लाम के सम्पर्क में आया। इसी ग्रुप ने उसकी शादी कराई। दावत-ए-इस्लाम के मौलाना ने रियाज का ब्रेनवॉश किया और ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान बुला लिया।
ट्रेनिंग के बाद रियाज ने गौस मोहम्मद को भी अपने साथ जोड़ लिया। दोनों उदयपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, राजसमंद, टोंक, बूंदी, बांसवाड़ा,जोधपुर जिलों में गरीब और बेरोजगार युवाओं को उकसा कर स्लीपर सेल से जोड़ रहे थे। आशंका है कि ये स्लीपर सेल आईएसआईएस के लिए बनाए जा रहे थे और इसके लिए अरब देशों से फंडिंग भी की गई।

तुम काफिर को अंजाम तक, जब रेत रहे थे कन्हैया का गला, रियाज-गौस के मुंह से निकल रहा था जहर

तुमने हमारे नबी के खिलाफ लिखा, तुम्हें जीने का कोई हक नहीं। तुम काफिर हिंदुओं को हम अंजाम तक पहुंचाएंगे। खंजर से कन्हैयालाल के गले पर प्रहार करते वक्त आरोपी मुंह से वह जहर भी उगल रहे थे जो पाकिस्तान और आतंकी संगठनों ने उनके दिमाग में भरा था। कन्हैयालाल हत्याकांड को लेकर राजस्थान पुलिस की ओर से दर्ज एफआईआर में भी इस बात का जिक्र किया गया है।