April 20, 2024

उज्जैन। फायनेंस कम्पनी से अटैच सीज कम्पनी के एजेन्ट बाइक सीज करना उस वक्त महंगा पड़ा गया, जब पुलिस ने उसे थाने में जमकर पीटा और ग्राहक की बकाया किश्त जमा करने की रसीद बनवा ली। पुलिस ने लूट के मामले में फंसाने की धमकी देकर 25 हजार रुपये वसूल लिये। एजेंट मारपीट में घायल हो चुका था, जिसका उपचार अस्पताल में चल रहा है।
गुना का रहने वाला दिलीप रघुवंशी मक्सीरोड सीज कम्पनी में एजेन्ट है और एमआर-5 मार्ग पर शीतल पैलेस में निवास कर रहा है। शनिवार को उसे शहर में हीरो कम्पनी से फायनेंस कराई गई सोयत की बाइक दिखाई दी। जिसकी 12 किश्त बाकी हो चुकी थी। उसने बाइक चला रहे सुनील को रोका और किश्त बाकी होना बताया। सुनील उसे बाइक देकर चला गया। एजेन्ट दिलीप ने बाइक सीज करने की सूचना माधवनगर थाना पुलिस को दी और आफिस चला गया। कुछ देर में ही 2 युवक और 2 पुलिसकर्मी आफिस पहुंच गये। एजेंट को बुलाया गया और नीलगंगा थाने ले आये। जहां एजेंट पर बाइक छीनने और 3 हजार रुपये लूटने का आरोप लगाया गया। एजेंट ने बाइक सीज करने की जानकारी माधवनगर में देना बताया तो उसके साथ मारपीट शुरु कर दी गई। माधवनगर पर दी गई सूचना का दस्तावेज भी छीन लिया गया, उसके बाद जमकर डंडो से पिटा गया और किश्त जमा करने की रसीद बनावा ली गई।