April 16, 2024

ब्रह्मास्त्र इंदौर। भंवरकुआ थाना क्षेत्र में चोर ने एक एटीएम को मशीन को तोड़ने की कोशिश की। इस दौरान ऑटोमेटिक सर्विलांस सिस्टम से मुंबई में बैठे कंपनी के अधिकारियों को वारदात का पता चल गया। उन्होंने दो बार एटीएम में अनाउंसमेंट भी किया कि पुलिस आ रही है, लेकिन चोर टस से मस नहीं हुआ। वह एटीएम तोड़ता रहा, जिसके बाद भंवरकुआ थाना पुलिस को सूचना दी गई। घटना के 6 घंटे बाद ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।
थाना प्रभारी शशिकांत चौरसिया ने बताया कि घटना देर रात करीब 2 बजे की है। पंजाब का रहने वाला हरदीपेन्द्र सिंह खंडवा रोड स्थित एचडीएफसी बैंक में चोरी की नीयत से घुसा था । आरोपी कुछ साल पहले तक इंदौर में ही रहता था। लेकिन पिता के देहांत के बाद उसे नशे की लत लग गई और वह पंजाब चला गया था। कुछ दिनों पहले वह इंदौर आया और अपने ताऊ के घर रुका।

कुछ दिन पहले ही इंदौर आया

पुलिस के अनुसार आरोपी हरदीपेंद्र सिंह का इंदौर में ट्रांसपोर्ट का कारोबार था और उसके कई ट्रक भी चल रहे थे। लेकिन बुरी संगत के चलते वह नशे की लत में पड़ गया। जिसके कारण परिवारवालों ने उसे पंजाब भेज दिया। लेकिन वहां भी उसकी नशे की लत नहीं छूटी। अभी कुछ दिन पहले वह इंदौर आया। परिवार द्वारा घर से निकाले जाने के बाद उसे रुपयों की जरूरत थी।

क्या है ऑटोमेटिक रोबोटिक सर्विलांस सिस्टम

सूनसान इलाकों में मौजूद एटीएम को चोर लगातार निशाना बनाते रहते हैं। ऐसे में ऑटोमेटिक रोबोटिक सर्विलांस सिस्टम को मशीनों में लगाया जाता है। यदि कोई भी व्यक्ति संबंधित बैंक के एटीएम में किसी भी तरह की छेड़छाड़ या उसे तोड़ने की कोशिश करता है। तो उसके हेड ऑफिस पर एक सायरन बजता है। जिसके बाद अधिकारी केबिन में लगे हुए कैमरा से तुरंत संबंधित एटीएम को देखते हैं।