April 18, 2024

उज्जैन। सिर में गोली लगने के बाद घायल को उपचार के लिए इंदौर रेफर किया गया था। 4 दिन चले उपचार के बाद सोमवार सुबह घायल की मौत हो गई। पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था। जिसमें अब हत्या की धारा 302 बढ़ाई जाएगी। गोली मारने वाले को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। मोतीनगर में रहने वाला लाखन पिता मोहनलाल राठौर 27 वर्ष टैक्सी ड्राइवर था। 15 दिनों से टैक्सी खराब होने पर वह पिता के साथ ईंट-भट्टे पर काम करने लगा था। 3 मार्च की सुबह घर से भट्टे पर जाने का बोल कर निकला था। कुछ देर बाद ही उसे दोस्त रवि पिता उदय सिंह ठाकुर ने डी मार्ट के पीछे केशव मेंस पार्लर के सामने रोक कर सिर में गोली मार दी थी। गंभीर घायल हुए लाखन को जिला अस्पताल लाया गया। परिजन उपचार के लिए निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। गोली सिर में फंसी होने पर डॉक्टरों ने इंदौर रेफर कर दिया। 4 दिनों से उसका उपचार वेंटिलेटर पर चल रहा था। हालत में सुधार नहीं होने पर डॉक्टर ऑपरेशन करने में असमर्थ थे। गोली सिर में ही फंसी होने की वजह से इंफेक्शन बढ़ता जा रहा था। सोमवार सुबह 10 बजे के लगभग डॉक्टर ने लाखन को मृत घोषित कर दिया।