April 24, 2024

ब्रह्मास्त्र इंदौर। एमपी बोर्ड परीक्षा में 12 वीं के पेपर में पहला चीटिंग का केस बना। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के फ्लाइंग स्क्वायड ने छात्र को चीटिंग करते हुए पकड़ा और चीटिंग का केस बनाकर माध्यमिक शिक्षा मंडल को भेजा। छात्र को परीक्षा के एक घंटे बाद पकड़ा गया। यह इंदौर में बोर्ड में पहला नकल का केस है। स्टूडेंट जेब में पेपर छुपाकर लाया था।
दरअसल, यह पूरा मामला शासकीय महाराजा शिवाजी राव हायर सेकंडरी स्कूल में हुआ। शुक्रवार को 12 वीं कक्षा का पॉलिटिकल साइंस का पेपर था। सुबह 10 बजे से परीक्षा शुरू हुई। परीक्षा में जांच के लिए फ्लाइंग स्क्वाड दल भी रवाना हुए।

एक घंटे बाद ऐसे पकड़ाया

परीक्षा शुरू होने के एक घंटे बाद फ्लाइंग स्क्वाड का दल इस स्कूल में पहुंचा। जहां पर दल अलग-अलग क्लासेस में चैकिंग कर रहा था। इस दौरान टीम के एक सदस्य की नजर एक छात्र पर पड़ी जो उन्हें देखकर घबरा गया और इधर-उधर देखने लगा। शंका होने पर टीम के सदस्य ने उसकी चैकिंग ली। चैकिंग के दौरान उसकी कॉपी में एक नकल का पेज मिला जिससे वह चीटिंग कर रहा था।

नकल प्रकरण बनाकर भोपाल भेजा

जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक नरेंद्र जैन के मुताबिक फ्लाइंग स्क्वाड की टीम ने छात्र की पहली कॉपी और नकल का पेपर जब्त किया। इसके बाद स्टूडेंट को दूसरी कॉपी दी गई। चीटिंग का केस बनाकर छात्र की दोनों कॉपियों को माध्यमिक शिक्षा मंडल, भोपाल भेजा गया है। चीटिंग का जो केस बनाया गया है उस पर स्टूडेंट की साइन भी ली गई है। यह सेंटर स्वाध्यायी छात्रों का एग्जाम सेंटर है।