बेटे का शव कंधे पर लादकर पैदल चलता रहा पिता

0

उज्जैन। मासूम बेटे की मौत होने बाद पिता शव कंधे पर लादकर पैदल चलता रहा। एम्बुलेंस चालक ने अमानवीयता दिखाते हुए परिवार को बीच रास्ते में उतार दिया था और दूसरी कॉल पर जाने का बोलकर चला गया। शिवपुरी के ग्राम बदरवास में रहने वाला परिवार मजदूरी के चलते महिदपुररोड ग्राम गोगापुर में आकर रहने लगा था। परिवार का मुखिया धनरराज पत्नी रामश्री के साथ मिलकर मजूदरी कर रहा था। बुधवार को उसके एक वर्षीय पुत्र अर्पित की तबीयत बिगड़ गई। वह महिदपुर रोड अस्पताल पहुंचा, जहां से उसे महिदपुर के शासकीय अस्पताल भेज दिया गया। जहां कुछ देर बाद पुत्र की मौत हो गई। उसने घर जाने के लिये अस्पताल स्टॉफ से एम्बुलेंस उपलब्ध कराने को कहा। काफी नानुकुर के बाद उसे एम्बुलेंस मिली, लेकिन चालक बीच रास्ते में परिवार को उतारकर चला गया। पिता बेटे का शव कंधे पर लादकर 2 किलोमीटर पैदल चला रहा और बस स्टेंड पहुंचा। उनके पास इतने पैसे भी नहीं थे कि बस का सफर तय कर सके। रामश्री ने बेटे का शव पति से लिया। उसकी आंखों से आंसू फूट पडेÞ। आसपास के लोगों की नजर परिवार पर पड़ी तो जानकारी ली। मामला सामने आने पर लोगों ने चंदा एकत्रित किया और प्रायवेट एम्बुलेंस को बुलाकर मासूम का शव उसमें रख परिवार को गोगापुर के लिये रवाना किया। इस दौरान कुछ लोगों ने मोबाइल से वीडियो बना लिया था। जिसके सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामला संज्ञान में आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *