पारदी गिरोह ने दिया था लाखों की चोरी को अंजाम

0

उज्जैन। एक माह पहले हुई लाखों की चोरी को पारदी गिरोह ने अंजाम दिया था। वारदातस्थल से मिले फिगंर प्रिंट से पुलिस एक बदमाश तक पहुंचने में सफल हुई है। बदमाश ने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर वारदात करना कबूल किया है। पुलिस साथियों का पता लगा रही है।
माकडोन थाना प्रभारी रामकुमार कोरी ने बताया कि ग्राम डाबडा राजपूत में रहने वाले दरबार पिता भगवानसिंह चौहान के मकान में 7-8 जून की रात बदमाशों ने उस वक्त चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया था, जब परिवार गहरी नींद में सोया था। सुबह वारदात का पता चलने पर सामने आया था कि बदमाश 3.70 लाख रूपये नगद, सोने-चांदी के आभूषण चोरी कर ले गये है। मामले में वारदात स्थल पर फिगंर प्रिंट टीम को बुलाया गया। जहां से वारदात में शामिल बदमाशों के फिगंर प्रिंट लिये गये। जिनका मिलान पुरानी वारदातों में शामिल बदमाशों से किया गया। इस दौरान सामने आया कि एक फिगंर प्रिंट पारदी गिरोह के गोविंदा पिता विसन सोलंकी निवासी धरनाबाद गुना के है। जिसकी तलाश के लिये एसआई लालचंद शर्मा, एएसआई मोहनलाल मालवीय, सुरेन्द्रसिंह (सायबर), प्रधान आरक्षक महेश जाट, आरक्षक राममूर्ति, कृपाशंकर शर्मा और अर्चित शर्मा की टीम बनाई गई। बदमाश की तलाश के दौरान सामने आया कि गोविंदा ग्राम ढाबाला हर्दू में दिखाई दिया है। पुलिस ने तत्काल उसकी घेराबंदी की और हिरासत में लिया। पूछताछ करने पर उसने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर वारदात करना कबूल कर लिया। थाना प्रभारी के अनुसार एक माह बाद हिरासत में आये बदमाश को न्यायालय में पेश कर 2 दिनों की रिमांड पर लिया गया। उसके फरार साथियों की तलाश में दबिश दी गई, लेकिन तीनों फरार होना सामने आये। बुधवार को गोविंदा की रिमांड अवधि खत्म होने पर उसे न्यायालय में पेश किया गया। जहां से जेल भेजा गया है। पारदी गिरोह के तीनों बदमाशों के हिरासत में आने पर चोरी के माल की बरामदगी की जायेगी।
इधर लहसुन बेचने की फिराक में थे बदमाश
बिरलाग्राम पुलिस ने भी पांच दिन में 2 बदमाशों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। थाने की कमान संभाल रहे एसआई संजय माथुर ने बताया कि ग्राम नायन में रहने वाले धर्मेन्द्रसिंह नारूका के आंगन में रखी लहसुन की 9 बोरी 4-5 जुलाई की रात अज्ञात बदमाशों ने चोरी कर ली थी। 5 क्विंटल 60 किलो लहसुन 67 हजार की चोरी होने पर बदमाशों का सुराग तलाशने के लिये एएसआई सरदारसिंह, प्रधान आरक्षक प्रद्युम्नसिंह पंवार, आरक्षक शुभम चौहान, आरक्षक अर्जुन सोलंकी की टीम बनाई गई। बुधवार को सूचना मिली कि बाइक सवार 2 लोग फसल का कारोबार करने वालों से लहसुन बेचने की चर्चा कर रहे है। संदेह के आधार पर पुलिस ने दोनों को पूछताछ के लिये हिरासत में लिया। कुछ देर में ही चोरी का राज खुल गया। पुलिस ने रणछोड़ पिता शंकरलाल और प्रकाश पिता नारायण निवासी ग्राम सरवाना को गिरफ्तार कर उनकी निशानदेही पर चोरी में प्रयुक्त 75 हजार रूपये कीमत की बाइक के साथ 67 हजार रूपये कीमत की लहसुन बरामद कर ली। दोनों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *