फिर बर्फीली हवा से धार्मिक नगरी में बढ़ी ठिठुरन -मौसम विभाग ने जारी किया कोल्ड-डे का अलर्ट

उज्जैन। एक बार फिर प्रदेश के मौसम ने करवट बदल ली है। शुक्रवार को बाबा
महाकाल की नगरी में ठिठुरन महसूस की गई। मौसम विभाग ने आगामी 4 दिन
कोल्ड-डे की संभावना जताते हुए अलर्ट जारी किया है।
12 जनवरी को शहर का तापमान 28 डिग्री पहुंच गया था। ऐसा लग रहा था कि मकर
संक्रांति के बाद हल्की गर्मी महसूस होने लगेगी। लेकिन 14 जनवरी को
सक्रिय हुए पश्चिमी विक्षोभ के बाद मौसम ने फिर से करवट बदल ली। हवा का
रूख उत्तरी होने पर नमी भरी हवा की रफ्तार बढ़ गई। गुरूवार शीत लहर महसूस
की गई। मौसम विभाग ने आज से बर्फीली हवा की रफ्तार ओर अधिक होने की बात
कहीं है। वहीं आगामी 24 जनवरी तक कड़ाके की ठंड पड़ने का अलर्ट जारी किया
है। हालत कोल्ड-डे के हो सकते है। घना कोहरा और हल्की बारिश हो सकती है।
शुक्रवार सुबह से धार्मिक नगरी उज्जैन में भी ठंड महसूस की जाने लगी थी।
शाम ढलने के बाद ठिठुरन काफी बढ़ गई थी। स्थानीय जीवाजीराव वेधशाला
अधीक्षक आरपी गुप्ता ने बताया कि अधिकतम तापमान में कमी आई और सामन्य से
5 डिग्री कम 24. 8 दर्ज किया गया है। हवा 6 से 8 किमी. प्रतिघंटे की
रफ्तार से चल रही है। न्यूनतम तापमान 11 डिग्री से नीचे बना हुआ है।
जिसमें शुक्रवार-शनिवार रात गिरावट आ सकती है।
चार दिनों तक प्रभावित रह सकता है जनजीवन
मौसम विभाग ने चार दिनों तक आम जनजीवन प्रभावित बना रहने का अलर्ट जारी
किया है। साथी एडवाइजरी जारी की है कि ऐसे मौसम में नाक बंद होना, नाक से
खून आना, फ्लू जैसी बीमारी की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे मौसम में ज्यादा
समय तक ठंड के संपर्क ना रहे। बच्चों और बुजुर्गो का खास ध्यान रखे और
घरों में रहे। कपकपी को नजर अंदाज ना करें यह शरीर में गर्मी कम होने का
संकेत है। कड़ाके की ठंड में शीतदंश हो सकता है। वही त्वचा पील और कठोर
होने के साथ सुन्न हो सकती है। ऐसा होने पर चिकित्सको की सलाह ले और गर्म
पेय पदार्थ का सेवन करे।

Author: Dainik Awantika