मशक्कत भरा हुआ चिमनगंज थाने पहुंचने का रास्ता

दैनिक अवन्तिका
उज्जैन। इन दिनों चिमनगंज थाने तक पहुंचना मशक्कत भरा दिखाई दे रहा है।
थाने के बाहर नाला निर्माण का काम चल रहा है, जिसकी रफ्तार इतनी धीमी है
कि आमजन तो क्या पुलिसकर्मी भी थाने तक पहुंचने के लिये कूद-फांद कर रहे
है।कुछ साल पहले चिमनगंज थाने का नया भवन एमआर-5 मार्ग पर मिला था। पुराना
थाना छोटा होने पर नया भवन मिलने से पुलिसकर्मियों को राहत मिली थी,
लेकिन भवन मिलने के बाद से यहां बना नाला मुसीबत बना हुआ था। खुले नाले
में पनप रहे मच्छर रात में पुलिसकर्मियों के लिये मुसीबत बने हुए थे।
जिसको लेकर नगर निगम अधिकारियों को कई बार अवगत कराया गया। चार साल बाद
निगम ने नाले की सुद ली तो पुलिसकर्मियों के लिये बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई।
नाला निर्माण करने वाले ठेकेदार ने पूरा नाला एक साथ खोद दिया। जिसके
चलते थाने तक पहुंचने का रास्ता ही बंद हो गया। पिछले कई दिनों से हालत
यह है कि थाने के सामने मिट्टी का पहाड़ खड़ा दिखाई दे रहा है। आमजन शिकायत
लेकर थाने तक नहीं पहुंच पा रहे है। यहां पदस्थ पुलिसकर्मियों को भी कूद
फांद कर प्रवेश करना पड़ रहा है। विदित हो कि थाना भवन मिलने के बाद
तत्कालीन थाना प्रभारी रहे अधिकारियों ने थाने का रास्ता मेन रोड से करने
के लिये नगर निगम आयुक्त का पत्राचार किया था। थाने के साइड में अवैध
अतिक्रमण है, जिसे हटाकर रास्ते की मांग की गई थी। लेकिन अब तक रास्ते को
लेकर संज्ञान नहीं लिया गया। इन दिनों नाला निर्माण से जो परेशानी खड़ी
हुई है, उसके बाद दोबारा से निगमायुक्त को पत्र भेजा जा चुका है, लेकिन
15 दिन से अधिक का समय गुजर जाने के बाद भी रास्ते को लेकर निर्णय नहीं
लिया गया है। 22 जनवरी को आयोध्या में भगवान रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा
होने जा रही है। पूरा देश सज रहा है। पुलिस मुख्यालय से थानों की साफ
सफाई और साज सज्जा के आदेश मिले है। जिसका पालन चिमनगंज थाना पुलिस
द्वारा किया जा रहा है। साफ सफाई हो चुकी है। साज-सज्जा की शुरूआत होने
वाली है, लेकिन रास्ता नहीं होने से थाने की रौनक बिगड़ी दिखाई दे रही है।
पुलिसकर्मियों को कहना है कि पूरा देश गा रहा है मेरी झोपड़ी के भाग्य आज
खुल जाएगें, मेरे राम आयेगें, लेकिन हमारे थाने में तो आने का रास्ता ही
दिखाई नहीं दे रहा है।

Author: Dainik Awantika